सरदारपुर-धार। जिलें में चोरी, लूट, डकैती की बढती घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं लंबे समय से जामदा-भूतिया के फरार चल रहे आरोपियों की धडपकड़ हेतु जिला पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र पाटीदार के निर्देशन में धार जिलें के समस्त सीएसपी/एसडीओपी, थाना प्रभारीयों के साथ-साथ क्राईम/सायबर ब्रांच धार प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को लगाया गया था। क्राईम ब्रांच धार प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को मुखबीर से सूचना मिली कि जामदा भूतिया के 4-5 खतरनाक बदमाश मय हथियारों से लेश होकर दो मोटर सायकलों से राताकोट-बडौदिया कच्चा रोड़ खाली खेत, पुलिया के पास एकत्रित होकर बडौदिया गांव में डकैती डालने की योजना बना रहे है। सूचना महत्वपूर्ण होने से सूचना से वरिष्ट अधिकारियों को अवगत कराया जाकर एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी सरदारपुर निहालसिंह डंडोतिया, उनि केएल पाटीदार, थाना प्रभारी टांडा राजू मकवाना, उनि आकाश सिंह एवं क्राईम/सायबर शाखा प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को मय टीम के मुखबिर के द्वारा बताये स्थान पर मय शासकीय वाहन एवं आम्र्स के घेराबंदी हेतु लगाया गया।
क्राईम ब्रांच धार, थाना सरदारपुर व थाना टांडा द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुए अलग-अलग टीमें बनाकर चारो ओर से घेराबंदी की, तथा क्राईम ब्रांच टीम ने थोडा पास जाकर अंधेरे का फायदा उठाकर सुना तो 5 लोग शराब पीते हुए आपस में रात में बडौदिया गांव में डकैती डालने की बातचीत कर योजना बना रहे थे, जिनके बाई तरफ दो मोटर सायकले खडी थी। कुछ ही देर में पुलिस टीम ने चारो ओर से एक साथ घेराबंदी कर दबिश दी, तो पांचो व्यक्ति भागने का प्रयास करने लगे। लेकिन टीम ने फुर्ती से घेराबंदी कर सभी पांचो आरोपियों को धरदबोचा, पांचो व्यक्तियों से पूछताछ करते उन्होने अपना नाम व  कैलाश पिता नूरला अमलियार जाति भील उम्र 26 साल निवासी ग्राम भूतिया पीपरपाड़ा फलिया थाना टांडा, महेन्द्रसिंह पिता स्व. नवलसिंह वसुनिया जाति भील उम्र 25 साल निवासी ग्राम आमघाटा तडवीपुरा फलिया थाना टांडा, मेहरू पिता कालू मेडा उम्र 34 साल निवासी ग्राम होलीबयडा मेंहदी फलिया थाना टांडा, जवरसिंह पिता ऐसू मछार जाति भील उम्र 45 साल निवासी ग्राम इंदला अमलीपुरा फलिया थाना टांडा, मुकेश पिता जुवानसिंह मेढा जाति भील उम्र 21 साल निवासी ग्राम होलीबयडा पटेलपुरा फलिया थाना टांडा।

आरोपियों ने कई वारदतों को दिया अंजाम -  
पकडे गए आरोपियों के कब्जे से 01 देशी कट्टा, जिंदा कारतूस, 2 धारदार लोहे का फालिया, 1 लोहे की टामी, 1 डंडा, दो चोरी की मोटर सायकले, 01 मोबाइल कुल मश्रुका कीमती 1,10,000/- रू का जप्त किया गया। पूछताछ मे आरोपियों ने बताया कि हम पांचो बडौदिया गांव में डकैती डालने के लिए यहा एकत्रित हुए थे। आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर में अपराध क्रमांक 120/2020 धारा 399, 402 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। आरोपियों के पास से मिली दोनो मोटर सायकले का पूछते चोरी को होना बताया है, जिनकी भी तलाश की जा रही है। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि हम सभी लोग अक्सर लूट, डकैती डालने के लिए जाए करते है। पकडे़ गए आरोपियों में से चार आरोपी थाना सरदारपुर, थाना टांडा व थाना गंधवानी में नामदर्ज आरोपी होकर लंबे समय से फरार चल रहे है, जिलें के थानों का रिकार्ड चेक करते आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर, थाना टांडा व थाना गंधवानी में 01 डकैती सहित हत्या, 14 डकैती, 03 लूट, 03 हत्या के प्रयास, 01 मारपीट, 1 चोरी, 01 नकबजनी कुल 24 गंभीर अपराधों में फरार होना पाया गया, जिनकी गिरफ्तारी पर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, इन्दौर जोन इन्दौर महोदय, उप महानिरीक्षक इन्दौर रेंज(ग्रामीण) महोदय व पुलिस अधीक्षक धार महोदय द्वारा कुल 1,75,000/- रू. (एक लाख पिचहत्तर हजार रूपये) का ईनाम घोषित किया था। आरोपी जबरसिंह पर थाना टांडा व थाना सरदारपुर के सन 1996-1997 के अपराध पंजीबद्ध थे, 03 प्रकरणों में आरोपी जबरसिंह के विरूद्ध न्यायिक दंडाधिकारी महोदय सरदारपुर द्वारा दिनांक 26.06.1999 में स्थाई वारंट जारी किया गया था। इस प्रकार आरोपी जबरसिंह विगत 21 सालों से उक्त प्रकरणों में पुलिस की गिरफ्त से बाहर चला रहा था।

Post a comment

 
Top