राजगढ़। श्री राजेंद्रसूरी साख सहकारी संस्था के मामले में संचालक कांता अशोक भंडारी ने दोषमुक्त करने के लिए उपायुक्त को पत्र भेजा गा हैं। पत्र में  बताया गया कि विभाग द्वारा संस्था अध्यक्ष सहित संचालक मंडल के सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। जिसमें मेरा नाम भी शामिल है। जबकी वास्तविकता यह है कि जिस दौर में अर्थात् वर्ष 2012 से 2017 तक वित्तीय अनियमित्ता हुई है। इस दौरान में संचालक पद पर नहीं रही है। साथ ही 2018 में हुए निर्वाचन के दौरान मुझे संचालक चुनना बताया गया। जबकी वास्तविकता यह है कि न तो मैने निर्वाचन प्रक्रिया भाग लिया एवं नहीं संचालक पद के उम्मीदवार फार्म पर हस्ताक्षर किए। यह भी उल्लेखनीय है कि तथाकथित निर्वाचन के बाद से अब तक मैने एक भी संचालक मण्डल की बैठक में भाग नहीं लिया एवं नहीं किसी ऋण प्रकरण स्वीकृति पर हस्ताक्षर किए। इससे स्पष्ट होता है कि इन सब अनियमिताओं से मेरा कोई लेना देना नहीं हैं। अतः मेरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर मुझे इस प्रकरण से पृथक किया जाएं। साथ ही जो दोषी है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएं।

Post a comment

 
Top