भोपाल। कोरोना महामारी के चलते देशभर में लागू लॉकडाउन का पूरी तरह पालन नहीं होने के कारण केंद्र सरकार ने चिंता जताई है। केंद्रीय कैबिनेट सचिव ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फेंस के जरिए फीडबैक लिया। साथ ही निर्देश दिए कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए। कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए इसमें किसी प्रकार की ढील नहीं दी जाए। यह जिम्मेदारी कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों की है। यदि वे यह नहीं कर पाते हैं तो सरकार व्यक्तिगत तौर पर जिम्मेदारी तय करेंगी। सूत्रों के मुताबिक बैठक में कहा गया कि फैक्टरी, शैक्षणिक संस्थान सहित अन्य उपक्रम बंद होने से बड़ी संख्या में लोग घर जाने के लिए प्रयासरत हैं। कुछ जगह से यह सूचनाएं आ रही हैं कि बड़ी संख्या में लोग शहर से बाहर जाने के लिए एकत्र हो रहे हैं। ऐसी जगह पर विशेष ध्यान रखा जाए। पड़ोसी राज्यों के साथ चर्चा करके ऐसे लोगों को वहीं पर ठहराने का इंतजाम किया जाए। खाने-पीने की व्यवस्था भी बनाई जाए। राज्य व जिलों की सीमा पर ऐहतियात बरती जाए। आवाजाही पूरी तरह बंद रखी जाए। रोजमर्रा की जरूरत के लिए सामग्री लेने जाने की छूट दी जाए लेकिन सुरक्षित शारीरिक दूर बनाकर रखने पर जोर दिया जाए। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने राज्य सरकार की ओर से कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदम और निर्णयों के बारे में जानकारी दी।

Post a comment

 
Top