भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह बेंगलुरु जाकर 16 विधायकों पर अनुचित दबाव डाल रहे हैं। बुधवार सुबह बेंगलुरु के रिसॉर्ट पहुंचे दिग्विजय सिंह और कमल नाथ सरकार के आठ मंत्रियों ने कर्नाटक पुलिस पर कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने की अनुमति नहीं देने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया।  भाजपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस बारे में एक ज्ञापन मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, चुनाव आयोग को सौंपा है। ज्ञापन में चुनाव आयोग से भाजपा ने कहा कि मध्यप्रदेश से राज्यसभा चुनाव के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह, 26 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए 16 विधायकों को अपने पक्ष में वोट देने हेतु प्रभावित करने और दबाव डालने के लिए आठ कैबिनेट मंत्रियों और अन्य लोगों के साथ बेंगलुरु गए हैं। ये 16 विधायक इस समय बेंगलुरु में डेरा डाले हुए हैं। पत्र में आगे कहा गया है कि दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा चुनाव में अपने पक्ष में मतदान करने के लिए दबाव बनाने के लिए सभी 16 विधायकों से मिलने की कोशिश की है लेकिन उन्होंने उनसे मिलने से इनकार कर दिया। विधायकों ने वीडियो जारी कर कहा कि वे दिग्विजय से मुलाकात नहीं करेंगे। इसके बाद दिग्विजय सिंह ने मंत्रियों के साथ धरना दिया और स्थानीय प्रशासन के लिए कानून व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न् करने की कोशिश की। भाजपा ने कहा कि राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार होने के नाते विधायकों पर दबाव बनाना और प्रभावित करना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।

Post a comment

 
Top