भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और प्रभावित लोगों के इलाज के लिए ठोस कदम उठाने के लिये निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि इस आपदा से निपटने के लिए सभी संभव प्रयास करें। श्री चौहान मंत्रालय में आयोजित वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में प्रदेशव्यापी स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना संक्रमण से प्रभावित लोगों को समय पर वांछित इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने की हिदायत देते कहा कि इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए प्रभावी प्रयास करें। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों से प्रदेश में सैम्पलिंग कार्य की स्थिति की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने पीपीई किट्स की उपलब्धता का ब्यौरा भी तलब किया। उन्होंने किट्स की उपलब्धता बढ़ाने के लिए विशेष पहल किए जाने की आवश्यकता बताई। श्री चौहान ने मास्क की आवश्यकता और उपलब्धता के बारे में भी जानकारी ली। प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में कोरोना के रोगियों के इलाज की सुविधा पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी व्यवस्था इस प्रकार होनी चाहिए कि यथासंभव जहाँ मरीज के लिए सुविधाजनक हो, वहीं उसका इलाज किया जाए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में कोरोना के मरीजों के इलाज की सुविधा की जानकारी ली। उन्होने शहडोल में मरीजों की उपचार संबंधी व्यवस्थाओं पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए क्योंकि बड़े शहरों से शहडोल की दूरी काफी अधिक है। मुख्यमंत्री ने हेल्प डेस्क संबंधी इंतजामों पर खास तौर पर ध्यान दिए जाने को कहा। उन्होंने विभिन्न जिलों में फंसे हुए लोगों की मदद के लिए संबंधित जिला प्रशासन को निर्देश दिए। साथ ही, आवश्यकतानुसार भारत सरकार के अधिकारियों से समन्वय बनाए रखने को कहा। बैठक में बताया गया कि सैम्पलिंग के काम की रफ्तार में तेजी लाने के प्रयास किए गए हैं। आगामी तीन दिन में सैम्पलिंग क्षमता बढ़ेगी। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

Post a comment

 
Top