नरेन्द्र पँवार, दसाई। विद्युत मण्डल की लापरवाही के कारण होता बडा हादसा मगर ड्रायवर की सूझबूझ के चलते घटना टल गई। बुधवार को समीपस्थ ग्राम भिलगुन में गेंहूॅ कटाई के दौरान बंद लाइट चालु होने से बडी दुर्घटना होते-होते बची। किसानो द्वारा अपनी फसल आने के बाद खेत में तार काफी नीचे होने से फसल कटाई में परेशानी आने पर विद्युत मण्डल से बुधवार को सुबह विद्युत बंद करने का परमीट लिया गया था मगर फसल की कटाई भी नही हो पाई और विद्युत मण्डल के कर्मचारी द्वारा समय सीमा के पहले ही विद्युत सेवा प्रारम्भ कर दी जिसके चलते हार्वेस्टर मशीन में करन्ट उतर गया वही मशीन का टायर फुट गया साथ ही डायवर को भी मामूली सा कंटर लगा जिसका  प्राथमिक  उपचार दसाई में कराया गया जहॉ ड्रायवर ही हालत ठीक बताई जा रही है।
नगर के किसान आजाद पाटीदार ने बताया की मेरे द्वारा बुधवार को सुबह 10 बजे तक विद्युत सप्लाई बंद का परमीट विद्युत मण्डल के कर्मचारी से लिया गया था ताकि मेरी गेंहूॅ की फसल की कटाई में किसी भी प्रकार की परेशानी नही आये मगर फसल कटाई का कार्य पूर्ण भी नही हुआ और समय से पहले ही कर्मचारी द्वारा लाइट को चालु कर दी जिसके कारण गेहूॅ कटाई की मशीन मे कंरट आ गया। क्योकि खेत पर लाइट के तार काफी नीचे हैं। जिसके चलते ड्रायवर को करटं भी लगा और फसल कटाई वाहन के टायर भी फुट गये है। भगवान की ही कृपा रही कि आज में बच गया वरना मेरा क्या होता यह तो पता नही क्योकि 10 मिनिट पहले ही में वाहन से नीचे उतरा था।
लाखो का हो जाता नुकसान - विद्युत मण्डल मण्डल की लापरवाही के कारण गेहूॅ की फसल में किसी भी प्रकार की घटना हो जाती तो निश्चित ही किसानो का लाखो रुपये का नुकसान हो जाता क्योकि क्षेत्र में वर्तमान में खेतो मे गेंहू की फसल पूरी तरह से सुख चुकी है और सभी खेतो में गेहूॅ की कटाई का काम जोरो पर चल रहा है। ऐसे मे क्या होता है यह तो समय ही बताता है। विद्युत मण्डल की लापरवाही  से किसी दिन भी बडी घटना हो सकती हैं । क्षेत्र मे कई स्थानो पर तार काफी नीचे है। जिसको लेकर किसानो के अलावा हर किसी ने विभाग को अवगत भी कराया गया। कई जगह तो तार इतने नीचे हैं कि कोई भी नीचे से तार को छू सकता है। वहीं गांव की बस्ती में भी कई जगह पर घरों के उपर से तार निकल रहे है जो कभी भी बडी दूर्घटना का कारण बन सकते है। साथ ही नगर में तारों के बीच मे सपोट नहीं होने से तार आपस मे टकराते देखे जा चुके है। लेकिन विभाग तारों के बीच सपोट को लेकर काफी उदासीन है। नगर में तारो के साथ-साथ कई जगह डीपी भी जमीन से ही लगी होने के साथ-साथ ही खुली भी रहती है। जिसके कारण कभी भी बडी घटना हो सकती है। डीपी को लेकर कई बार विभाग को जगाया गया मगर विभाग कुंभकरण की ही नींद में सोया है लगता है। किसी बडी घटना का इंतजार विभाग को है।
सौंपा ज्ञापन - विद्युत मण्डल के कर्मचारी द्वारा समय से पहले लाइट चालु करने पर जो घटना हुई है उसके खिलाफ किसानो ने बुधवार को विद्युत मण्डल में सुपरवाईजर को ज्ञापन दिया जिसमें कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही के साथ-साथ नुकसानी की बात भी की गई । ज्ञापन का वाचन भरत भूत ने किया। इस अवसर पर दिनेश वालासिवा, संजय पाटीदार, भरतलाल पाटीदार, मनोज भालोड, राजेश खडीवाला, प्रदीप पाटीदार, दिनेश पाटीदार, रामचन्द पाटीदार, शेरु पाटीदार सहित बडी संख्या में किसान उपस्थित थे।

इनका कहना है -
किसान द्वारा विद्युत बंद करने का परमीट लिया गया था तार नीचे है। जिसकी भी जानकारी किसानो द्वारा दी गई है। कर्मचारी द्वारा समय से पहले ही लाइट चालु कर दी गई थी । कर्मचारी को तुरन्त ही हटा दिया गया है। साथ ही नीचे तारो को देखकर तुरन्त ही ऊचे कराने के लिये प्रयास करुगा। आज जो घटना घटी है वह नींदनीय है। कर्मचारी को ऐसा नहीं करना था जानकारी के बाद ही विद्युत लाईट को चालू करना थी - संतोष मूवेल सुपरवाइजर

Post a comment

 
Top