नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया मचे हाहाकार के बीच अमेरिका और चीन में जुबानी जंग जारी है। ताजा खबर यह है कि चीन के एक अधिकारी ने गुरुवार को अमेरिका पर ही वुहान में कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगा दिया। चीनी अधिकारी ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि अमेरिेकी सेना ही कोरोना वायरस को वुहान लेकर आई है। यह बयान अमेरिका और चीन बीच कोरोना वायरस को लेकर जारी जुबानी जंग के बीच काफी मायने रखता है और माना जा रहा है कि इससे दोनों देश एक-दूसरे पर हमले और तेज कर सकते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने गुरुवार को अपनी खबर में लिखा कि सूचनाओं के अनुसार, अमेरिकी रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (CDC) के निदेशक रॉबर्ट रेडफिल्ड ने यह माना है कि फ्लू के कुछ मरीजों की पहचान में संभवत: गलती हुई है और वे कोरोना वायरस से ग्रस्त थे। खबर में कहा गया है कि यह जानलेवा वायरस अमेरिका में फैलता जा रहा है लेकिन अमेरिकी सरकार की प्रतिक्रिया में खामियों के संकेत दिख रहे हैं। खबर में कहा गया है कि अमेरिकी सरकार ने महामारी से जुड़ी खबरों को छिपाने की कोशिश की।
खबर में लिखा गया है कि अमेरिका शायद सामान्य फ्लू और कोरोना वायरस में फर्क नहीं कर पाया और नस्लवाद से प्रेरित बयानों के साथ दूसरों पर दोष मढ़ने की कोशिश की। रेडफिल्ड की टिप्पणियों का हवाला देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ताओं में से एक जाओ लिजिआन ने आरोप लगाया कि संभवत: अमेरिकी सेना ही कोविड-19 को वुहान लेकर आई है। चीन में इस वायरस के संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत का वुहान शहर ही है। हालांकि उन्होंने अमेरिकी सेना के खिलाफ अपने आरोपों पर विस्तार से कुछ भी नहीं कहा।

Post a comment

 
Top