राजगढ़। नगर की अग्रणी संस्था शिवांश परिवार युवाओं का संगठन हैै और जिस नगर का युवा धार्मिकता से जुड़कर भजन संध्या एवं अनेक धार्मिक आयोजन करे तो उस नगर की हर गली, हर मोहल्ला और घर धर्ममय होकर हो जाता है। जिस आयु में युवा भटक जाता है उस आयु में धर्म ध्वजा युवाओं के हाथो में हो तो उनके माता-पिता भी निश्चिंत हो जाते है। उक्त बाते नगर की सामाजिक एवं धार्मिक संस्था शिवांश परिवार द्वारा सभी शिवरात्रि की पूर्व संध्या गुरूवार को आयोजित भजन संध्या में पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज ने कही। आयोजन में श्री भारद्वाज ने कहा की युवाओं के हाथों में धर्म ध्वजा का दर्शन चार धाम के दर्शन के समान है।
आयोजन में पूर्व सांसद प्रतिनिधि गोपाल सोनी, शास्त्री श्रीकृष्ण भारद्वाज एवं सामाजिक कार्यकर्ता आकाश जायसवाल अतिथि के रूप में मंचासीन रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ भगवान भोलेनाथ की प्रतिमा पर माल्यर्पण कर प्रारंभ हुआ। जिसके बाद भजन संध्या प्रारंभ हुई जो देर रात्रि तक चली।
प्रसिद्ध भजन गायिका मिश्रा के भजनों ने बांधा समा - 
शिवांश परिवार द्वारा प्रतिवर्ष की तहर इस वर्ष की नगर की मैन चैपाटी भगवा चौक पर शिवरात्रि की पूर्व संध्या भव्य रूप से भजन संध्या का आयोजन किया गया था। आयोजन में प्रसिद्ध भजन गायिका सविता मिश्रा जबलपुर ने अपने मधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी। गायिका मिश्रा ने गणेश वंदना से भजनो की शुरूआत की, जिसके बाद मेरा भोला है भंडारी, करे नंदी की सवारी, ओम नमः शिवाय, भोले के दिवाने जैसे अनेक मधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी। इन भजनों ने ऐसा समा बांधा नगर की माता-बहने भी झूम उठी एवं देर रात्रि तक आयोजन चला।
अघोरी भोलेनाथ रहें आकर्षण का केन्द्र -
शिवांश परिवार द्वारा आयोजित भजन संध्या में इंदौर के कलाकारों ने भजनों पर अपनी आकर्षक प्रस्तुतियां दी। आयोजन में इंदौर के श्रीजी डांस ग्रुप के कलाकारों ने अघोरी भगवान भोलेनाथ, राधाकृष्ण फाग प्रस्तुति एवं कालिका माता की वेषभूषा में आकर्षक प्रस्तुतियां दी। जिसकी नगर के लोगो ने खुब सराहना की। इन नृत्य प्रस्तुतियों को निहारने के लिए नगर के गणमान्य नागरिक एवं नगर की माता-बहने देर रात्रि तक मौजुद रही। कार्यक्रम में शिवांश परिवार के सभी सदस्य मौजुर रहें। कार्यक्रम का संचालन शिवांश परिवार के राहुल विरास ने किया एवं आभार हुकमसिंह राजपूत ने व्यक्त किया।

Post a comment

 
Top