नरेन्द्र पँवार, दसाई। वीरान पडी राजगढ कृषि उपज की उपमण्डी दसाई में एक बार फिर रोनक प्रारम्भ हो गई। जैसे ही किसानो को पता चला की दसाई की उपमण्डी में 26 फरवरी बुधवार कों नए सीजन की खरीदी प्रारम्भ हो रही हैैं। सुबह से ही मण्डी क्षेत्र में किसान अपनी उपज को बेचने के लिये मण्डी प्रागंण में आना प्रारम्भ कर दिया।  देखते-देखते ही मण्डी में 60 से अधिक टेक्ट्रर के साथ ही मण्डी में छोटे-मोटे ढेर लगना प्रारम्भ हो गये। जिससें मण्डी में सुबह से शाम तक चल-पहल रही। दोपहर को मण्डी प्रागंण में किसान और व्यापारी की उपस्थिति में मण्डी के सचिव रेशम मण्डलोई ने  भेरुजी का पूजन-पाठ कर इस साल के नए सीजन का  श्रीगणेश किया। प्रथम दिवस लगभग 2500 बोरी से अधिक गेहूं ,200 बोरी सोयाबीन और 70 बोरी डालर चने की  आवक रही। मुर्हूत में गेहूं 1800 रुपये के भाव में किसान गोवर्धनलाल पाटीदार का नाकोडा ट्रेडर्स द्वारा खरीदा गया। इस अवसर किसान और व्यापारी का फुलमाला  पहनाकर स्वागत मण्डी प्रभारी राजेश दूबे ने किया। मण्डी प्रारम्भ होने पर मिठाई का वितरण भी किया गया। उपमण्डी में प्रथम दिवस गेंहू अधिकत 1940 के भाव में सोयाबीन 3800 और डालर 5000 रुपये के भाव रहे।

उम्मीद है ऐसे ही चलती रहेगी मंडी -
ऐसे तो समय-समय पर जब भी सीजन आता है मण्डी में खरीदी का श्रीगणेश जोर-शोर से होता हैं मगर इस वर्ष मण्डी का श्रीगणेश नही होने से हर वर्ग परेशान हो रहा था। नए सीजन में गेहूं की खरीदी प्रारम्भ होने से हर वर्ग मे ख़ुशी छा गई। यह खरीदी मण्डी मे लगातार चले यह उम्मीद इस बार सब लगा रहे हैं, वही कही इस बार हर साल की तरह इस बार फिर मण्डी मात्र कुछ दिनो के बाद फिर बंद न हो जावे और उपमण्डी वीरान हो जावें।ऐसा होने से किसानो सपने दसाई मण्डी में उपज लाने के टूट जावेगें।

शीघ्रता से होगा समस्या का निराकरण -  राजगढ मण्डी की उपमण्डी में इस बार खरीदी का श्रीगणेश नही होने से मण्डी वीरान लगने लगी थी वही यह खेल का मैदान बन चुकी थी ।पशु चराने और कंडे बनाने के काम आ रही थी।  वर्तमान में उपमण्डी में बनी समस्या को लेकर मण्डी सचिव मण्डलोई ने बताया कि मण्डी के चलने पर सभी समस्याओ का समाधान शीघ्रता से किया जावेगा। किसी भी प्रकार की समस्या नही आवेगी। प्रतिदिन मण्डी अधिकारी भी उपस्थित रहेगे। उपमण्डी कें शुभारम्भ में भीमसिह दरबार, नरेन्द्र पाटीदार, सुरेश नाहर, जयप्रकाश जायसवाल, पासरमल पावेचा, वरदीचंद मारु, सचिव जैन, ललीत पिपाडा, पंकज बुरड, निलेश लोढा, चन्दन मारु, शान्तिलाल मारु, फुलचंद मारु, भेरुलाल मारु, जीवन मारु सहित अनेक व्यापारी उपस्थित थे ।

Post a comment

 
Top