नरेन्द्र पँवार,दसाई। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आरक्षण के बाद से ही नगर में चुनाव का बाजार गर्म होने लगा है। चैराहे-चैराहे के साथ होटलो में भी चुनावी चर्चा प्रारम्भ हो गई हैं। वही पंच, सरपंच के दावेदार भी अभी से ही कमर कसकर सक्रिय हो गए हैं। जबकि अभी चुनाव की तिथि की घोषणा होना बाकि हैं। विगत दिवस जनपद स्तर पर हुवे ग्राम पंचायत के विभिन्न पदों पर आरक्षण की प्रक्रिया पुरी होने के बाद सरपंच-उपसरपंच पद के समीकरण बनना प्रांरभ हो गये है। दसाई तहसील सरदारपुर का सबसे बडा गाॅव हैं ।यहाॅ एक बार फिर महिला के हाथ में दसाई की कुर्सी होगी। नगर में लगातार दुसरी बार महिला सरपंच पंचायत पर राज कर नगरवासियो को सुविधा देने के लिये आगे आयेगी। पंच की ओर हम निगाहे लगाते है तो इस बार सारा समीकरण बदलता नजर आ रहा है। जहाॅ वार्ड न.4 और 5 पिछले चुनाव में सामान्य था इस बार दो ही वार्ड आरक्षण के कारण पिछडे वर्ग में हो गये जिससे इस वार्ड से दावेदारी करनेे वाले कई उम्मीदवारो में निराशा छा गई है।
सरपंच के दावेदार मायूस- विगत कई दिनों से सरपंच बनने के ख्वाब देखने वाले युवा उम्मीदवार यहां महिला सरपंच का पद आरक्षित हो जाने सें मायूस हो गये है। क्योंकि अब उनकी उम्मीदवारी नहीं हो सकेगी। यदि वे अपने घर से किसी महिला को उम्मीदवार बनाते हैं तो उन्हे बार बार महिला के सामने नतमस्तक होना पडेगा।  पिछली बार की भांति ही यहाॅ सरपंच महिला होने के कारण उपसरपंच का पद महत्वपुर्ण होते नजर आ रहा हैं। ऐसे में अनेक नेताओ ने उपसरपंच के सपने देखना प्रारम्भ कर  दिये है। ऐसे में सामान्य और पिछडे वार्ड पर हर किसी की नजर रहेगी क्योकि इन्ही वार्ड से उपसरपंच का भाग्य का फैसला होगा। वार्ड 05 और 17 पिछडा वर्ग पुरुष वार्ड 06,07, और 08 वार्ड सामान्य पुरुष के होने से इन वार्ड पर हर किसी की निगाहें रहेगी। इन वार्डो से ही उपसरपंच का उम्मीदवार रहेगा जो सरपंच के साथ अपना हाथ मिलाकर दसाई के विकास में सहयोग करेगा। नेताओ को इतंजार है तो बस चुनाव की तिथि का ।

इनका कहना हैं -
-इस बार पंचायत में जो भी सरपंच बने पानी की समस्या का समाधान होना चाहिये आज कुम्हार पाट पानी के लिये काफी परेशान हो रहा है। पानी ही मूल समस्या है यदि समय पर पानी मिल जावे तो सारी समस्याओं का समाधान अपने आप हो जावेगा। - मुकेश प्रजापत कुमार पाठ

दसाई पंचायत क्षेत्र की सबसे बडी है मगर यहाॅ कई समस्या बनी हुई है। विकास ही पहली प्राथमिकता दे ऐसा सरपंच होना चाहिये। क्योकि विकास के बिना सबकुछ अधूरा है। - राधाबाई

Post a comment

 
Top