नई दिल्ली। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के चारों दोषियों को तीन मार्च को फांसी देने का फैसला सुनाया है। कोर्ट ने चारों दोषियों की फांसी के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है। चारों को तीन मार्च की सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी। अदालत ने निर्भया के माता-पिता और दिल्ली सरकार की अर्जियों पर सुनवाई करके यह डेथ वारंट जारी किया  है। इन याचिकाओं में रेप और हत्याकांड के चारों मुजरिमों को फांसी पर चढ़ाने के लिए नई तारीख मुकर्रर करने की मांग की गयी थी। आपको बता दें कि इससे पहले दो बार दोषियों के लिए डेथ वारंट जारी किया गया था लेकिन कानूनी पेचीदगियों के चलते अभी तक उन्हें फांसी नहीं दी जा सकी है। कोर्ट के फैसले पर निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, "मैं बहुत खुश नहीं हूं क्योंकि यह तीसरी बार है जब डेथ वारंट जारी किया गया है। हमने बहुत संघर्ष किया है, इसलिए मैं संतुष्ट हूं कि आखिरकार डेथ वारंट जारी किया गया है। मुझे उम्मीद है कि उन्हें (दोषियों को) 3 मार्च को फांसी दी जाएगी।" दिल्ली में 16-17 दिसंबर 2012 की दरम्यानी रात छह लोगों ने चलती बस में 23 वर्षीय पैरामेडिकल छात्रा से बर्बर बलात्कार किया था और फिर उसे बस से सड़क पर फेंक दिया था। इस लड़की को काल्पनिक नाम ‘निर्भया’ से जाना गया। बाद में 29 दिसंबर 2012 को सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। राम सिंह नाम के आरोपी ने तिहाड़ जेल में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। आरोपियों में शामिल एक नाबालिग को तीन साल तक किशोर सुधार गृह में रखने के बाद रिहा कर दिया गया था।

Post a comment

 
Top