रिंगनोद। सरदारपुर-भोपावर मार्ग के समीप  जुनी छावनी माही नदी के किनारे पर स्थित हज़रत फ़ैज़ अली शाह रहमतुल्लाह अलैह के मजार शरीफ पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी एक दिवसीय उर्स बुधवार को धूमधाम से मनाया गया।  उर्स पर सुबह कुरान ख्वानी उसके बाद 9 बजे सरदारपुर, राजगढ़,रिंगनोद आदि जगहों के हिंदू- मुस्लिम भाई फूल और चादर लाकर मजार शरीफ पर पेश कर दुआ माँगी। इसके बाद सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक शुद्ध शाकाहारी लंगर(भंडारे) का आयोजन हुआ और 12 बजे से दोपहर 4बजे तक महफिल ए  कव्वाली का आयोजन हुआ  जिसमें देश के मशहूर फनकार शाहिद सलाम साबरी द्वारा एक से बढ़कर एक  सूफियाना और हिन्दू-मुस्लिम एकता पर कलाम पेश कर शमा बांधा। शाम को रंग और समापन पर देश की खुशहाली,उन्नति और भाईचारे की दुआऐं माँगी गई साथ ही उर्स कमेटी के सरवर खान,गफ्फार खान,रफीक खान और डॉक्टर फिरोज द्वारा बहार से आये हिन्दू- मुस्लिम भाइयो ,चाँद शाह वली उर्स कमेटी,काले शाह दाता उर्स कमेटी सहित सरदारपुर ,राजगढ़,और रिंगनोद के हाजियों का गुलपोशी से सम्मान किया। कव्वाली के प्रोग्राम में संचालन हाजी अब्दुल रशिद खान साहब ने किया।

Post a comment

 
Top