राजगढ़। परमात्मा की चाह लेकर के निकलोगे तो हमे रास्ता देखने की आवश्यकता नही हैं, क्योकि रास्ता तो वह परमात्मा स्वयं आपके लिए बनाएगा, आप उस रास्ते पर चलिए आपको परमात्मा की प्राप्ति होगी। उक्त उदगार आज समीप ग्राम कंजरोटा के देवराज नगर में चल रही श्रीमद भागवत कथा में पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के ज्योतिषाचार्य श्री पुरुषोत्तमजी भारद्वाज ने कथा का वाचन करते हुए दिया। कथा में श्री भारद्वाज ने यह भी कहा कि अगर आप भावना लेकर चले हैं कि मुझे के कन्हैया से मिलना हैं तो आप गौशाला पहुँचिए। गौ माता के बीच ही आपकों कन्हैया मिलेंगे। क्योकि गौशाला में ही श्री कृष्ण बसते हैं।
कंजरोटा के देवराज नगर में चल रही श्रीमद भागवत कथा में आज रुक्मणी हरण का प्रसंग सुनाया गया। इस दौरान नगर सहित बड़ी संख्या में आसपास के श्रद्धालु कथा श्रवण करने पहुँचे थे।
कल समापन पर निकलेगी भव्य शोभायात्रा -  कल बुधवार को भागवत कथा का समापन होगा। भागवत कथा आयोजन के आयोजक समिति के लक्ष्मण डामेचा ने बताया कि आयोजन के तहत रात्रि में भजन संध्या का आयोजन हो रहा हैं। मंगलवार रात्रि में सुन्दरकाण्ड एवं भजन संध्या का आयोजन हुआ। कल बुधवार को कथा का समापन होगा। कथा समापन अवसर पर कल बुधवार को भव्य कथा समापन झुलुस निकाला जाएगा। जिसमे बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। कथा के आयोजन में समस्त ग्रामवासियों का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा हैं।

Post a comment

 
Top