नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को देश के वैज्ञानिकों और नवोन्मेषकों से अपनी सोच का विस्तार करने का आह्वान किया और उन्हें आश्वासन दिया कि सरकार पूरी तरह उनके साथ है। मोदी ने कहा, ‘‘आपकी क्षमता विस्तृत है, आप कई चीजें कर सकते हैं, अपनी सोच का विस्तर कर सकते हैं, अपने प्रदर्शन के मापदंड को बदल सकते हैं, पंख फैलाकर उड़ान भर सकते हैं, (आपके लिए) मौके हैं, मैं आपके साथ हूं।’’ उन्होंने बेंगलुरु में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह देश के वैज्ञानिकों और नवोन्मेषकों के साथ है। उन्होंने कहा, ‘‘आप सभी इस बात से परिचित हैं कि आकाश और समुद्र के साथ ही साइबर क्षेत्र और अंतरिक्ष भी दुनिया के सामरिक समीकरणों को परिभाषित करेंगे। इसी के साथ बुद्धिमान मशीनें भी आने वाले दिनों में रक्षा के क्षेत्र में अहम भूमिका निभायेंगी। ऐसे में भारत पीछे नहीं रह सकता है।’’ प्रधानमंत्री डीआरडीओ द्वारा निर्मित युवा वैज्ञानिक प्रयोगशालाओं को देश को समर्पित करने के बाद बोल रहे थे। ये प्रयोगशालाएं उन्नत प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में समर्पित अनुसंधान पर केंद्रित होंगी। डीआरडीओ की युवा वैज्ञानिक प्रयोगशालाएं बेंगलुरु, मुम्बई, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद में हैं। डीआरडीओ ने कहा है कि ऐसी हर प्रयोगशालाएं महत्वपूर्ण उन्नत प्रौद्योगिकी से लेकर भविष्य की रक्षा प्रणालियों के विकास पर काम करती हैं। उसने कहा कि संगठन में 35 साल की उम्र तक के चुने हुए वैज्ञानिकों को चिह्नित अनुसंधान क्षेत्रों में काम करने का मौका दिया गया है।

Post a comment

 
Top