भोपाल। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश को भण्डारण का हब बनाया जाएगा। मध्यप्रदेश देश के केन्द्र में स्थित है, इसलिए निकट भविष्य में  लाजिस्टिक हब के रूप में विकसित होगा। इससे प्रदेश के भण्डारण हब बनने में भी सहयोग मिलेगा। उन्होंने लाजिस्टिक और भण्डारण क्षेत्र में सक्रिय निवेशकों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम दावोस की वार्षिक बैठक के दूसरे दिन विश्व के नामी उद्योगपतियों ने मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी, स्वागत क्षेत्र, पर्यटन के नए क्षेत्रों में निवेश पर चर्चा की। निवेशकों ने श्री कमल नाथ के नेतृत्व और दूरदृष्टि में विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश जल्दी ही इकॉनोमिक फोर्स के रूप में नजर आएगा।  हेवलेट पैकार्ड इंटरप्राइज डिवीजन के अध्यक्ष एवं सीईओ श्री एंटोनियो नेरी, प्रॉक्टर एण्ड गैंबल के एशिया पैसिफिक, मध्य पूर्व अफ्रीका के अध्यक्ष श्री मगेश्वरन सुरंजन, विप्रो के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अबीदाली नीमचवाला, इमरटिस् एयरलाइंस चेयरमेन और सीईओ श्री अहमद बिन सईद अली मख्तूम, वीपीएस  हेल्थ केयर ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डॉ. शमशीर वयलिल, 2000 वॉट स्मार्ट सिटी के संस्थापक श्री एंड्रेस बिलकर्ट ने मुख्यमंत्री से वन-टू-वन चर्चा की। मुख्यमंत्री ने हेवलेट पैकार्ड इंटरप्राइज डिवीजन के अध्यक्ष और सीईओ श्री एंटोनियो नेरी से डाटा सेंटर स्थापित करके, हार्डवेयर निर्माण और आईटी पार्क स्थापित करने से जुड़े विषयों पर चर्चा की। मध्यप्रदेश में कम्प्यूटर हार्डवेयर निर्माण और आईटी पार्क में होने वाले आईटी ऑपरेशन के संबंध में बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आईटी क्षेत्र में  निवेश के लिए सर्वाधिक अनुकूल वातावरण है क्योंकि शांति होने के साथ-साथ यहाँ प्रतिभाशाली युवा आईटी प्रोफेशनल बड़ी संख्या में उपलब्ध हैं। विप्रो लिमिटेड के सीईओ अबीदाली नीमचवाला ने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी सेवा इकाइयों और पार्क स्थापित करने की नई संभावनाओं पर चर्चा की। उन्होंने श्री कमल नाथ के नेतृत्व में विश्वास जताते हुए कहा कि प्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश की संभावनाएँ बनी हैं। इंटर कॉन्टिनेटल होट्ल्स ग्रुप (आईएचजी) के अध्यक्ष श्री पेट्रिक सिस्सकाऊ और सीईओ श्री केतवार ने प्रदेश में स्वागत उद्योग की संभावनाएँ रेखांकित करते हुए निवेश की इच्छा जताई है। उन्होंने मुख्यमंत्री से मध्यप्रदेश के प्रमुख पर्यटन-स्थलों पर विश्व-स्तरीय रिजार्ट स्थापित करने, वन्य-जीव पर्यटन और हेरिटेज होटल्स के निर्माण में निवेश करने के संबंध में चर्चा की।

Post a comment

 
Top