नरेन्द्र पँवार, दसाई। विद्यालयों मे होने वाले कार्यक्रमों मे भाग लेते रहने से आपकी प्रतिभा को पंख लगते है विशेष रूप से छात्राओं की प्रतिभा सांस्कृतिक कार्यक्रम में ही निखरती है। क्योंकि हमारे भारतीय परिवेश में छात्राओं को अधिक अवसर नहीं मिल पाते है। उक्त विचार शासकीय कन्या उमावि दसाई में सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुवे जिला पंचायत सदस्य कमल यादव ने अपने अपने मुख्य आतिथ्य के दौरान छात्राओं को संबोधित करते हुवे कहे। आपने आगे बताया कि आपका विद्यालय उत्कृष्ट श्रेणि का है इसलिये इसका अधिक से अधिक लाभ लेना चाहिये।  कार्यक्रम प्रधानाध्यापक कैलाशचन्द्र मारू की अध्यक्षता, सरपंच प्रेमाबाई-काशीराम एवं उपसरपंच दिनेश पटेल के विशेष आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मंच पर देवेन्द्रसिंह राठोर एवं देवानंद पाटीदार उपस्थित थे।  सांस्कृतिक कार्यक्रम के शुभारंभ में प्रियंका, कोमल एवं मंशिता ने सरंस्वती वंदना नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत की। शिवानी जोशी का ”नैनो वाले”, चंचल का ”प्रेम रतन धन पायो”, उमा व पायल का ”जीना है तो पापा पीना छोडो”, एवं प्रिया चौहान का गीत ”ओ राधा तेरी” ने खुब तालिया बटोरी। वहीं छात्रा खुशी एवं सूचि का ”तेरी उंगली पकड कर”, माध्यमिक विभाग की छात्रायें नेहा, मेघा, खुशी,जयश्री एवं सहेलियों की ”झांसी की रानी” प्रस्तुति ने दर्शकों को भाव विभोर कर दिया। रिचा एवं साथी का ”मोबाइल के दुष्प्रभाव” नाटिका को दर्शकां ने खुब सराहा। वहीं मेघा, वंदनां एवं जयश्री का गीत ”तेरी मिटटी मे मिल जावां” एवं निकिता व आरती के लोक नृत्य पर छात्राऐं झुम उठी। याशिका, सानू एवं खुशबु की तथा खुशी एवं सरीता की पेरोडी ने खुब गुदगुदाया। अनेक गीतों एवं प्रस्तुतियों में  शिक्षकों ने अपने व्यय पर पुरस्कार देकर छात्राओं को प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम का संचालन गणेश भाटी ने किया तथा छात्राओं की साज-सज्जा में निशा प्रजापति, मंजूबाला मारू, ममता मारू, दिव्या पाटीदार, सपना भिडोतिया, आदि का सहयोग रहा। इस अवसर पर प्राचार्य प्रतिभा दूबे, सत्यनारायण धाकड, मुकेश सक्सेना, राजीव बघेल, जावेद कुरेशी,मुकेश पाटीदार, मोहन सोलंकी, गोविन्द झाला, विजय जाट, विजय चौहान, मनोज डोड, संजय पाटीदार, नारायण पाटीदार,आत्माराम पाटीदार, आदि का सहयोग सराहनीय रहा।

Post a comment

 
Top