राजगढ़। स्थान का भी अपना महत्व हैं, गुरू का सम्मान करना अलग बात हैं। लेकिन अपनी भूमि पर भी गर्व करो तो यह सोना उगलेगी। यदि किसी राजा के नाम से राजगढ़ जुड़ा होता तो आज यह प्रसिद्ध नही होता लेकिन गुरु राजेन्द्र सूरीश्वर जी महाराज साहब की तपोभूमि के कारण राजगढ़ प्रसिद्ध होकर गढ़ हो गया एवं गुरु का गढ़ होने से राजगढ़ शाश्वत हो गया। उक्त विचार आज मोहन गार्डन में आयोजित त्रिदिवसीय सर्वधर्म कल्याण जन कल्याण महोत्सव के दौरान धर्मसभा में राष्ट्रसंत डॉ. श्री वसंत विजयजी म.सा. ने कही। आगे श्री वसंत विजयजी ने कहा कि सेवा करना हमारा धर्म हैं, लेकिन मांग कर सेवा करने से अच्छा हैं सक्षम बनकर सेवा करों। गुरु के पास जाओ तो यह मत सोचना की वह किस धर्म सम्प्रदाय का हैं बल्कि गुरु में अपना फायदा देखना। कमल सुगंध दे सकता हैं, चन्द्र शीतलता दे सकता हैं और सूर्य प्रकाश दे सकता हैं। आपके जीवन में जो यह तीनों चीजे देदे वही श्रेष्ठ हैं।
हुआ भव्य मंगल प्रवेश - त्रिदिवसीय सर्वधर्म जनकल्याण महोत्सव में भाग लेने पधारे राष्ट्रसंत डॉ. श्री वसंत विजय जी म.सा. का भव्य मंगल प्रवेश सुबह 9 बजे मंडी गेट से नगर में हुआ। बेंड बाजे एवं ताशो के साथ सर्व धर्म भैरव भक्त मंडल के द्वारा म.सा. की भव्य अगवानी की गई। वहीं आदिवासी लोक नर्तक दल ने भी मंगल प्रवेश के दौरान निकली शोभायात्रा जुलूस में अपनी प्रस्तुति दी। शोभायात्रा में घोड़ों पर धर्म ध्वजा लिऐ हुई पुरुष सवार थे। उनके पीछे महिलाए कलश लिऐ हुए चल रही थी। मंडी गेट पर नवकारसी के बाद मंगल प्रवेश  मण्डी गेट से प्रारंभ होकर पुराना बस स्टेण्ड, चोपाटी, तीन बत्ती चौराहा, महावीरजी मन्दिर, नाना सेठ की गली, चबूतरा चौक, न्यू बस स्टेण्ड से राजेन्द्र कॉलोनी मोहन गार्डन पहुँचा जहा पर धर्म सभा हुई। प्रवेश के दौरान जगह-जगह स्वागत किया गया।
कल होगी महामांगलिक - आयोजन के तहत मंगलवार शाम 7ः30 बजे मां पद्मावती का नाटकीय कार्यक्रम आयोजन स्थल मोहन गार्डन में होगा। साथ ही कल 25 दिसंबर को गुरुदेव के मुखारविंद से सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय की भावना के साथ महामांगलिक कल शाम 7 बजे से  होगा। महामांगलिक का सीधा प्रसारण पारस चैनल पर शाम 7 से 12 बजे तक होगा।

Post a comment

 
Top