राजगढ़। किसानो के मुद्दों को लेकर आज भाजपा  ने प्रदेश व्यापी धरना प्रदर्शन किया। इसी के तहत राजगढ़ ग्रामीण मंडल द्वारा भी "खेत धरना आंदोलन" किया गया। राजगढ़ ग्रामीण मंडल द्वारा आदिम जाती सेवा सहकारी संस्था तिरला में धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ नहीं होना, यूरिया की कालाबाजारी और किसानों पर लाठीचार्ज, बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा नहीं दिया जाना, कर्ज माफी की धोखाधड़ी करना जैसे कई आरोप लगाए। राजगढ़ ग्रामीण मंडल अध्यक्ष मदन चोयल ने बताया की किसानो की समस्या को लेकर पार्टी द्वारा प्रदेशव्यापी आंदोलन किया गया है। चोयल ने बताया की केंद्र की ओर से पर्याप्त यूरिया भेजा गया लेकिन नाकाम प्रबंधन तंत्र की वजह से किसानों को खाद नहीं मिल पा रही है, यही नहीं सोसाइटियों पर किसानों को ना सिर्फ असुविधा बल्कि दुर्व्यवहार का सामना भी करना पड़ रहा है। सरकार ने कभी यूरिया की मांग पर ध्यान नहीं दिया न उसके वितरण की समुचित व्यवस्था की। किसान एक-एक बोरी के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं और सरकार उन पर लाठियां बरसा रही है। अपनी लापरवाही को ढांकने के लिए मुख्यमंत्री यूरिया संकट का ठीकरा केंद्र सरकार पर फोड़ रहे हैं। कमलनाथ सरकार सत्ता में आने के बाद से ही किसानों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों से कन्नी काटती रही है। किसानो के हितों के लिए भाजपा हमेशा आंदोलन कर कांग्रेस सरकार को जगाती रहेगी। धरना आंदोलन के दौरान डॉ. बल बहादुर सिंह, रमेश सतपुड़ा, दिनेश परवार, हीरालाल चौधरी, प्रेम पटेल सहित बड़ी संख्या में भाजपा राजगढ़ ग्रामीण मंडल के कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

Post a comment

 
Top