नई दिल्ली। झारखंड विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण का मतदान खत्म होने के बाद आज कई मीडिया घरानों ने झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए एग्जिट पोल जारी किए हैं और कुछ एग्जिट पोल में झारखंड के अंदर त्रिशंकु विधानसभा रहने का अनुमान लगाया गया है तो कुछ में कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा तथा राष्ट्रीय जनता दल को बढ़त दिखाई गई है। झारखंड की 81 विधानसभा सीटों के लिए 5 चरणों में मतदान हुआ है और आज शुक्रवार 20 दिसंबर को पांचवे तथा अंतिम चरण के लिए मतदान हुआ है। इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के एक्जिट पोल नतीजों में भारतीय जनता पार्टी को 22-32 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है जबकि कांग्रेस-JMM-RJD गठबंधन को 38-50 सीटों का अनुमान है। झारखंड विकास मोर्चा को 2 से 4 सीटें, AJSU को 3 से 5 और अन्य तथा निर्दलियों को को 4 से 7 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। एबीपी-सी वोटर्स के एग्जिट पोल में जहां झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को 35 सीटें मिलने की बात कही गयी है वहीं भाजपा को 32 सीटें मिलने की संभावना व्यक्त की गयी है। इस सर्वेक्षण ने आज्सू को पांच, झाविमो को तीन एवं निर्दलीय तथा अन्य को छह सीटें मिलने की बात कही है।

यदि एबीपी-सी वोटर्स का सर्वेक्षण सही साबित होता है तो उसके अनुसार राज्य में एक बार फिर भाजपा-आज्सू की सरकार का भी गठन हो सकता है। राज्य की पिछली सरकार भी इन्हीं दलों ने मिलकर गठित की थी। वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा को 81 सदस्यीय विधानसभा में 37 सीटें मिली थीं, आज्सू को पांच, झामुमो को 19, कांग्रेस को छह, झाविमो को आठ सीटें मिली थीं। अन्य दलों एवं निर्दलीयों को छह सीटें मिली थीं। बाद में झाविमो के छह विधायक दल बदल कर भाजपा में शामिल हो गये थे जिसके बाद झाविमो के पास महज दो सीटें रह गयी थीं। झारखंड के स्थानीय चैनल न्यूज 11 भारत ने अपने सर्वेक्षण में भाजपा को 30 से 35 सीटें, झारखंड मुक्ति मोर्चा को 17 से 22 सीटें, कांग्रेस को नौ से बारह और आज्सू को आठ से बारह एवं झाविमो:प्रः को चार से छह सीटें मिलने का अनुमान लगाया है। इस एग्जिट पोल में छोटे दलों तथा निर्दलीयों को आठ से दस सीटें मिलने की बात कही गयी है। झारखंड में 30 नवंबर से 20 दिसंबर के बीच कुल पांच चरणों में आज 81 विधानसभा सीटों के लिए मतदान का काम पूरा हो गया। 23 दिसंबर को मतगणना होगी।

Post a comment

 
Top