दसाई। समीपस्थ ग्राम बामनखेडी मे पैर फिसलने के कारण एक महिला की मौत हो गई है। ललीता पति रामलाल 20 उम्र वर्ष  निवासी वेकलरुडी (जोलाना) की रहने वाली अपने पिता के घर बामनखेडी 20 दिनो पहले ही आई थी। दोपहर 1 बजे के आसपास बकरी चराने गई थी पानी की प्यास लगने के कारण बकरी चराते-चराते कुएं पर पानी बोतल मे भरने गई और पैर फिसल गया। जिसके कारण महिला की मौत हो गई। जैसे ही खबर लगी ग्रामिणो की भीड जमा हो गई। बताया जाता है कि बामनखेडी गॉव से लगभग एक किलोमीटर दूर कुएं मे ललीता के गिरते  तीन-चार  छोटे-छोटे बच्चो ने देखा और गॉव मे जाकर लोगो को बताया। तुरन्त ही ग्रामिण घटना स्थल पर पहुॅचे और लगभग 25 फीट गहरा कुआ जिसमे उपर तक पानी भरा हुआ था इंजन की सहायता से पानी को कम कर रस्सी और कांटेदार झांड की मदद से ग्रामिणो ने उसे निकाला गया तब तक वह मर चुकी थी। एक निजि खेत मे कुआ जो बिना मुडेर का था। भरपूर पानी भरा था उपर पानी होने के कारण कुएं से पानी पिना बहुत आसान था ऐसे मे महिला भी बोतल लेकर पानी पिने के लिये पहुॅच गई जिसके कारण पैर फिसल गया।परीक्षा देने आई थी।  कक्षा 12 वी मे पूरक आने पर वह धार परीक्षा देने के लिये अपने पिता नृसिग मेयडा के घर आई थी। बामनखेडी से धार पास होने से वह अपने पिता के घर आई। परीक्षा समाप्त होने से कुछ दिन के लिये पिता के यहॉ रुख गई और आज शुक्रवार को बकरी चराने के लिये चली गई। एक साल पहले ही लगभग 22 किलोमीटर दूर वेकलरुडी (जोलाना) रामलाल-मुन्नालाल मसार के यहॉ हुआ था। ललीता की मौत की खबर लगते ही घर वालो का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। जैसे ही घटना की जानकारी लगी तुरन्त ही सरपंच के साथ-साथ पटवारी और पिंकी मेहारडे जिला वैज्ञानिक अधिकारी धार के अलावा चौकी प्रभा आकाशसिह ने पहुॅचकर पंचनामा बनाकर शव को पीएम के लिये अमझेरा भेजा गया।

Post a comment

 
Top