सुमित राठोड़, बामनिया। स्थानीय महाशय धर्मपाल  (MDH) दयानन्द आर्य विद्या निकेतन में आज सोमवार को योग, चरित्र निर्माण, शारीरिक उन्नति एवं आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन मुख्य अतिथि कमलसिंह मिंदल यातायात प्रभारी, थाना पेटलावद, विशेष अतिथि शैल जी शास्त्री  एवं अन्य गणमान्य लोगों की उपस्थिति में किया गया। शिविर के उद्घाटन के प्रारम्भ में अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन कर शिविर के ध्वज को फहराया। कार्यक्रम में बच्चो द्वारा स्वागत गीत गाया गया। इसके पश्चात शिविर की रूपरेखा और संस्था की जानकारी प्राचार्य प्रवीण अत्रे द्वारा दी गई। मुख्य अतिथि कमलसिंह मिंदल ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यालय स्तर पर ऐसे शिविरों का आयोजन होते रहना चाहिए, जिससे बच्चो में शारीरिक, मानसिक और नैतिक विकास हो सके। देश के अच्छे नागरिक तैयार करने में ऐसे शिविरों की महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं। उन्होंने विद्यालय के प्रयासों की सराहना की। विशेष अतिथि दिल्ली से पधारे आचार्य शैल शास्त्री ने शिविर की गतिविधियो एवं उद्देश्यों की जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन दिलीप शास्त्री ने किया। आभार संदीप बिसारिया ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में संजय पाढ़ी, व्यायाम शिक्षक करण आर्य, आशीष आर्य, स्मिता भट्ट, कविता त्रिपाठी, शैलेश त्रिपाठी, आयुषी जैन, मनोज मालवीय एवं अन्य स्टाफ उपस्थित रह। शिविर में  क्षेत्र के 180 से अधिक विद्यार्थी सम्मिलित हो रहे हैं।

Post a comment

 
Top