भोपाल। तंगी के दौर से गुजर रही प्रदेश सरकार बाजार से फिर एक हजार करोड़ रुपए का कर्ज लेगी। इसके लिए भारतीय रिजर्व बैंक के माध्यम से दस साल के लिए कर्ज लिया जाएगा। इस राशि का इस्तेमाल मध्‍य प्रदेश में विकास कार्यों के साथ अधूरे प्रोजेक्ट को पूरा करने में किया जाएगा। उल्‍लेखनीय है कि  प्रदेश सरकार अभी तक जरूरी कामों के लिए बाजार से 17 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज ले चुकी है। जानकारी के अनुसार मध्‍य प्रदेश के ऊपर एक लाख 86 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। इस संबंध में वित्त विभाग के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि अपने बेहतर वित्तीय प्रबंधन के चलते  मध्‍य प्रदेश को राज्य के सकल घरेलू उत्पाद के 3.5 प्रतिशत तक कर्ज लेने का अधिकार है। इस हिसाब से मध्‍य प्रदेश राज्य 28 हजार करोड़ रुपए तक का कर्ज ले सकता है।

Post a comment

 
Top