राजगढ़। एक्युप्रेशर प्राकृतिक चिकित्सा पर आधारित है। एक्युप्रेशर पॉईट हाथों और पैरों के तल भागों में रहती है। जिस समय अपने शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द होता है, उसी समय उस जगह के पॉईंट दर्द होते है। एक्युप्रेशर चिकित्सा से इस प्रकार के दर्द को कम किया जा सकता है। इस शिविर में सेवार्थ संस्था इंडियन एकेडमी ऑफ एक्युप्रेशर साइनस और एक्युप्रेशर ट्रेनिंग ट्रीटमेंट एण्ड रिसर्च सेन्टर, जोधपुर (राजस्थान) के एक्युप्रेशर थैरेपिस्ट एवं सहयोगी मरिजों को अपनी सेवाओं से लाभान्वित करेंगे। पंजीयन शुल्क 50 रू. (सिर्फ एक बार छः दिन का) यह शिविर 1 से 6 दिसम्बर तक प्रातः 8 से 12 बजे तक एवं सायं 4 से 8 बजे तक नवरत्न आराधना भवन, राजगढ़ एक्युप्रेशर चिकित्सा द्वारा बहुत सी बीमारियों का उपचार किया जायेगा। जिसमें छोटे बच्चों, बुजुर्ग, युवक एवं महिलाएं चिकित्सा का लाभ ले सकते है। हर मरीज का करीब 15 मिनट उपचार किया जायेगा। शिविर में मोटापा, जोडों का दर्द, कमर दर्द, बेड बेडिंग.बी.पी. कन्धों का दर्द, अर्थराईटीस की तकलिफ. अस्थमा, अतिसार, घुटनों की तकलिफ गैस, स्लीप डिस्क, एसीडीटि, नाक, स्त्री एवं पुरूष, डायबिटीज, कान, गुप्त रोग, सिरदर्द, गला आदि का उपचार किया जाएगा।  आयोजन कर्ता इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष एकता पोसित्रा मो. 6263906669, सचिव अलका भण्डारी मो. 9425460248 और इनरव्हील क्लब वुमन पावर सदस्य कीर्ति सिंघल मो. 9425347149, विजया बाफना मो. 9425334745 पर संपर्क कर अधिक जानकारी व रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। शिविर में सेवार्थ थेरेपिस्ट डॉ. महेश गोस्वामी (MD in Accu) व सत्यनारायण चौधरी अपनी सेवाएं देगे।

Post a comment

 
Top