नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ​महाराष्ट्र के सियासी नाटक पर फैसला सुनाते हुए देवेंद्र फडणवीस सरकार को 24 घंटे के अंदर फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि फडणवीस सरकार को 27 नवंबर को ओपन बैलेट से फ्लोर टेस्ट देना होगा। इसकी वीडियोग्राफी भी होगी। फ्लोर टेस्ट प्रोटेम स्पीकर की देखरेख में ही होगा।​ बता दें कि शनिवार को देवेंद्र फडणवीस ने सुबह-सुबह मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली थी। एनसीपी नेता अजित पवार ने भी डिप्टी सीएम पद की शपथ ली थी। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करके इस पर फैसला सुरक्षित रख लिया था और आज सुबह 10.30 बजे इस पर फैसला सुना दिया।  सुप्रीम कोर्ट के फैसले में फडणवीस सरकार को फ्लोर टेस्ट के लिए मोहलत मिलती है या नहीं, इस पर सबकी नजरें टिकी हुई थी। दूसरी तरफ आज संसद में महाराष्ट्र का मुद्दा फिर से गूंजने वाला है। महाराष्ट्र में सियासी जोड़ तोड़ को लेकर हंगामे के आसार बने हुए हैं। न्यायमूर्ति एन वी रमण, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की तीन सदस्यीय पीठ के समक्ष शिवसेना की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि उनके गठबंधन के पास 154 विधायकों के हलफनामे हैं और अगर बीजेपी के पास बहुमत है तो उसे 24 घंटे के भीतर अपना बहुमत सिद्ध करने के लिये कहा जाना चाहिए।

Post a comment

 
Top