वीराज प्रजापतिम, सारंगी। असत्य पर सत्य की विजय का पर्व विजयादशमी पूरे  सारंगी नगर में मंगलवार को धूमधाम से मनाया गया। इस बार में नगर का सबसे बड़ा 11 फुट का रावण फूंका गया। दूसरे नंबर पर इमली चौक सारंगी में 11 फुट का रावण जलाया गया। इसके अलावा नगर  में अन्य जगह दशहरा उत्सव धूमधाम से मनाया गया । मैदान में मेले लग गए हैं। इस बार के पुतले कम प्रदूषण फैलाएंगे। पुतलों को बनाने में ग्रीन पटाखों का इस्तेमाल किया गया है। साथ ही पहले की अपेक्षा में इसकी संख्या में भी कमीं की गई है। इसमें कपड़े का इस्तेमाल कम कयिा गया है। कागज, बांस और सूखी घास से इनका नर्मिाण कयिा गया है। आयोजकों ने बताया की दशहरा बुराई पर अच्छाई की जीत को दर्शाता है। इसलिए  हम इस दिन  रावण का पुतला दहन करते हैं। इससे लोगों में संदेश जाता है कि रावण जैसा बुद्विमान और प्रतापी जब अहंकार में आकर बुराई के रास्ते चलने लगता है तो उसका किस तरह से नाश होता है। इसलिए  हर मनुष्य को अच्छाई और सच्चाई के रास्ते चलना चाहिए।

Post a Comment

 
Top