सरदारपुर। श्री लाभ गंगा सोसायटी ने महिला सशक्तिकरण के तहत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए महिला समूह के माध्यम से जो 16 करोड़ के ऋण वितरित किए हैं, वह सराहनीय है। समूहों को चाहिए कि वे इस ऋण राशि का सही उपयोग करते हुए खुद के साथ ही संस्था की भी साख को मजबूत बनाने का हर संभव प्रयास करे। यह बात सरदारपुर एसडीएम महेश बड़ोले ने गुरुवार को सोसायटी के 522वें समूह को ऋण वितरित करते हुए सोसायटी के सरदारपुर स्थित कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने समूहों को संबोधित करते हुए कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में पुरूषों के बराबर काम कर रही हैं। वे अपने खर्चो पर भी नियंत्रण रखें एवं परिवार में होने वाले खर्च को बढ़ावे नहीं, यदि ऐसा होता है तो निश्चित ही वे खुद ही आत्म निर्भर हो जाएंगी। समारोह की अध्यक्षता बैंक ऑफ इंडिया की राजगढ़ शाखा के प्रबंधक संजय केलकर ने की। उन्होंने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में इतने विश्वस्त ढंग से कार्य करने वाली संस्था बिरली ही होती है। लाभ गंगा ने इतने कम समय में क्षेत्र की महिलाओं के आर्थिक विकास में जो योगदान दिया है, वह स्मरणीय है। कार्यक्रम के दौरान सलाहकार समिति के श्री सीताराम गौराना भी मौजूद रहे। अतिथियों का स्वागत शाखा प्रबंधक श्री हितेष गौराना, अरूण माली, रामेश्वर मारू, रवीना शर्मा आदि ने किया।

विपरित परिस्थितियों में भी संस्था मजबूत -
शाखा प्रबंधक हितेष गौराना ने बताया कि सहाकरिता के प्रति विश्वास का संकट इन दिनों छाया हुआ है। इन विपरित परिस्थितियों में भी संस्था ने जुलाई-सितंबर की तिमाही में लगभग एक करोड़ 48 लाख रुपए की अमानतें प्राप्त की एवं इसी अवधि में समूह ऋण के माध्यम से 76 लाख रुपए एवं मध्यावधि ऋण के तहत 28 लाख रुपए का ऋण वितरित किया है। यह सबकुछ संस्था के प्रति सदस्यों के अडिग विश्वास का ही परिणाम है। उन्होंने बताया कि संस्था ने विभिन्न बैंकों में लगभग सवा तीन करोड़ रुपए सुरक्षित निधि के रूप में जमा कर रखे हैं।

Post a comment

 
Top