राजगढ़। नगर के पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के गर्भग्रह के द्वार आज प्रातः 9 बजे खोले गए। गर्भगृह में विराजीत मां कामाख्या के दर्शन हेतु दिन भर भक्तों का आवागमन लगा रहा। मंदिर के शास्त्री श्रीकृष्ण भारद्वाज ने बताया की शनिवार देर रात्रि में गणपित अम्बिका युवा मंच द्वारा मंदिर पर मनाए जा रहें शारदेय नवरात्रि महोत्सव में मध्यप्रदेश शासन के पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह हनी बघेल पहुंचे एवं मंदिर पर विराजित  माँ अम्बिका के दर्शन वंदन कर ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज से आशीर्वाद लेकर उनसे चर्चा की। साथ ही श्री गणपति अम्बिका युवा मंच के अध्यक्ष सचिन यादव एवं मंच पदाधिकारियों से भी पर्यटन मंत्री बघेल ने महोत्सव को लेकर चर्चा की।
रोग एवं कष्ट दुर करती है माँ कामाख्या -
मंदिर के गभगृह में विराजीत मां कामाख्या के दर्शन हेतु आज सुबह पट (द्वार) खोले गए। जो कल सोमवार को भी खुलेे रहेंगे। मंदिर के ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज ने बताया की शारदेय नवरात्रि एवं चेत्र नवरात्रि की अष्टमी एवं नवमी को मंदिर के गर्भगृह में विराजीत दक्षिण मुखी माँ कामाख्या कालिका के द्वार भक्तों के दर्शन हेतु खोल जाते है। इस बार भी नवरात्रि की अष्टमी एवं नवमी को माता के दर्शन हेतु पट खोले गए। प्रातः 9 बजे से शाम 5 बजे तक गर्भगृह के द्वार भक्तों के दर्शन हेतु खुलें रहेंगे। माँ कामाख्या के दर्शन मात्र से ही रोग एवं कष्ट दुर हो जाते है। साथ ही माता से मांगी गई हर मुराद भी पुरी होती है। माँ कामाख्या के दर्शन हेतु नगर सहीत आसपास क्षेत्र एवं दूर-दराज के श्रद्धालु भी दर्शन करने पहुंचते है।

Post a Comment

 
Top