सुमित राठौड़, झाबुआ। भाई -बहन के जीवन में जैसे रक्षा बंधन का बड़ा महत्व है, उसी क्रम में भाई दुज पर्व का भी बड़ा महत्व है। उसी को देखते हुवे राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की जिलाध्यक्ष श्रीमति चेतना चौहान ने भाई दुज एवं अपने जन्मोत्सव का बड़े की अनोखे ढंग से मनाया। सर्व प्रथम बाल सुधार ग्रह पहुॅच कर समस्त बच्चो व स्टाप के साथ एकत्रीत हो कर राष्ट्रगान गाया व भारत माता के जयकारे लगाये। जिसके बाद जहाॅ उन्होने  समस्त बच्चो को मस्तक पर तिलक लगाकर सल्पाहार करवाया। व भाई दुज की बधाईयां एवं शुभकामनाएं दी। जिसके बाद श्रीमति चौहान ने समस्त बच्चो को अपने उद्बोधन में कहाॅ की आपने पुर्व में क्या किया और यहाॅ क्यो आना पड़ा यह सब अपने जीवन से भुज जाये। व यहाॅ अच्छे विचारो को अपने मन में लाए। और यहाॅ से वापस जाने के बाद तुमको क्या करना है,अपने माता-पिता भाई बहन के साथ अच्छे रहना है। व अच्छे काम कर अपने माता पिता व परिवार का नाम रोशन करना है। और बहार जाने के बाद फिर कभी भी आवेश में आकर कोई ऐसा कार्य ना करे जिससे हमें दौबारा इस जगह आना पड़े। इसलिये यहाॅ से उच्च विचारो को अपने मन में लेकर ही जाये व संकल्प ले की हम औरो को भी अच्छी शिक्षा दे ताकी कभी किसी को इस जगह कोई बुरे कार्य करके ना आना पड़े।

श्रीमति चौहान को दी बधाईयां
राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की झाबुआ महिला सेल जिलाध्यक्ष श्रीमति चौहान को उनके जन्म दिवस पर आयोग के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डाॅं रविन्द्रजी मिश्रा,आनंदराज दुबे,किर्तीश  जैन,पवन नाहर,मनीष कुमट,निलेश भानपुरीया,अली असगर बौहरा,गोपाल विश्वकर्मा,जमनालाल चौधरी,विजय पटेल,गोपाल चौयल,निलेश परमार,सुखलाल मेहसन ने बधाई प्रेषित कर उनके उज्जवल भविष्य की मंगलकामना की। इस अवसर पर बाल सुधार ग्रह में विशेष रूप से अधीक्षक  छगनसिंह, कार्यालय सहायक चेतन कुमार तिवारी, तानसिंह परमार, होमगार्ड कोमलसिंह मीणा, रतनसिंह ढाकीयाश्रीमति संतोष शाह, चिंकी अहेरिया, सतीश अहेरीया, महेन्द्र गेहलोत, पक्षाल शाह, माधुरी चौहान, राधिका चौहान, अनामिका चौहान उपस्थित थे।

Post a comment

 
Top