धार। लोकायुक्त इंदौर की टीम ने गुरुवार देर शाम धार जिले में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया हैं, अधिकारियों के दल ने थाना प्रभारी को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिर तार किया है। आरोपी थाना प्रभारी को पांच हजार रुपए लेते हुए ट्रेप किया गया, जिसके बाद से ही अधिकारियों की कार्रवाई मौके पर जारी है। टीम ने पंचनामा बनाकर मामले में प्रकरण भी आरोपी के खिलाफ दर्ज किया हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आवेदक प्रेमसिंह डाबर निवासी पिपलदिया ने लोकायुक्त इंदौर में शिकायत दर्ज करवाई थी, कि टांडा थाना प्रभारी द्वारा उनसे 20 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की गई है। थाना प्रभारी धारा 354 के मामले में आरोपी नहीं बढ़ाने के एवज में रिश्वत मांग रहे हैं, मामले की शुरुआती जांच के बाद लोकायुक्त अधिकारियों की एक टीम गुरुवार को धार पहुंची। टीम ने टांडा प्रभारी सुभाष सुलिया को रिश्वत लेते हुए शाम को करीब 6.40 बजे गिरफ्तार किया है। मामले की जानकारी देते हुए डीएसपी एसएस यादव ने बताया कि प्रेमसिंह का भाई एक मामले में धारा 354 का आरोपी हैं, इसी मामले में परिवार के चार अन्य लोगों के नाम भी शामिल होने की बात आवेदक को थाना प्रभारी ने बताई थी। जिन्हें आरोपी नहीं बनाने के एवज में थाना प्रभारी ने करीब 20 हजार रुपए की मांग की थी, इसमें से 12 हजार रुपए पहले ही ले लिए थे। परिवार के अन्य लोगों को आरोपी नहीं बनाने को लेकर आज पांच हजार रुपए आवेदक के द्वारा देते समय थाना प्रभारी सुभाष सुलिया को रंगेहाथों गिर तार किया गया है।

Post a comment

 
Top