नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दशहरे के अवसर पर मंगलवार को पेरिस में ‘शस्त्र पूजा’ करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि इसी दिन वह पहला राफेल लड़ाकू विमान भी स्वीकार करेंगे। राजनाथ सिंह वर्षों से ‘शस्त्र पूजा’ करते आ रहे हैं। पूर्ववर्ती राजग सरकार में गृहमंत्री रहते हुए भी वह शस्त्र पूजा करते थे। शस्त्र पूजा या आयुध पूजा में अस्त्र-शस्त्र की पूजा की जाती है। देश के विभिन्न हिस्सों में यह दशहरा उत्सव का हिस्सा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘रक्षा मंत्री दशहरा पर पेरिस में शस्त्र पूजा करेंगे। वह कई वर्षों से यह कर रहे हैं, गृहमंत्री रहते हुए भी ऐसा करते थे।’’ राजनाथ सिंह तीन दिवसीय दौरे पर पेरिस जा रहे हैं। दशहरे के दिन मंगलवार को वह 36 राफेल लड़ाकू विमानों में से पहला विमान इसी दिन स्वीकार करेंगे। इसी दिन भारतीय वायुसेना का स्थापना दिवस भी है। विमान स्वीकार करने के बाद रक्षा मंत्री पेरिस स्थित फ्रांसीसी वायुसेना शिविर पर उसमें उड़ान भी भरेंगे और उसका अनुभव लेंगे। हालांकि 36 विमानों में से पहला विमान रक्षा मंत्री को मंगलवार को ही मिल जाएगा लेकिन चार विमानों की पहली खेप अगले वर्ष मई में भारत पहुंचेगी। अधिकारियों ने बताया कि फ्रांसीसी सेना के शीर्ष अधिकारी और दसाल्ट एविएशन के वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे। दोनों देशों के बीच रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग को और मजबूत बनाने को लेकर सिंह नौ अक्टूबर को फ्रांसीसी सरकार के शीर्ष रक्षा नेतृत्व से बातचीत करेंगे। सूत्रों का कहना है कि भारतीय वायुसेना की एक उच्चस्तरीय टीम पहले से ही पेरिस में मौजूद है और वह राफेल कार्यक्रम में उपस्थित रहेगी।

Post a Comment

 
Top