नरेन्द्र पँवार, दसाई। तेजा दशमी नगर सहित आसपास क्षेत्र मे धूमधाम के साथ मनाई गई। नया बाजार और हरदेवलाला तेजाजी मन्दिर मे सुबह से ही दर्शन के लिये लम्बी कतार लगी रही। दोपहर मे निशान का विशाल चलसमारोह नगर के प्रमुख मार्गो पर निकाला गया। शुभ मर्हुत मे वीर तेजाजी को निशान चढाये गये। नगर मे कई अखाडो के कलाकारो द्वारा प्रदर्शन किया किया है। एकलव्य अखाडो के कलाकारो ने अपने शरीर पर दो पहिया वाहन चलाना, आग से खेलना, सिर पर श्रीफल फोडना, कांच खाना, सहित कई प्रदर्शन किये। अखाडे देखने के लिये दसाई सहित आसपास के गॉवा के लोग दसाई आये। जिसके चलते सुबह से ही नगर मे काफी भीड रही। वीर तेजा दशमी पर कई लोगो की तांती तेजाजी के मन्दिर मे दोपहर के बाद  तोडी गई। यह सिलसिला देर शाम तक चलता रहा। बताया जाता है की तेजाजी के नाम से बांधी तांती (धागा) कभी खाली नही जाती है। इनके नाम से सबकुछ ठीक हो जाता है। तेजा दंशमी के दिन तांती को तोडना जरुरी होता है।

Post a Comment

 
Top