राजगढ़। रविवार से नवरात्रि प्रांरभ होगी उस दिन सर्वार्थ सिध्दी व अमृत सिद्धी योग रहेंगा। इस वर्ष नवरात्रि सुख समृद्धि आर आनंद से परिपूर्ण रहेंगा। जानकारी देते हुए पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज ने बताया की नवरात्रि के प्रथम दिवस माता गज पर सवार होकर प्रवेश करेंगी। सर्वार्थ सिद्धी योग के साथ ही द्वीपुष्कर और राज योग बन रहा है। इसलिए नवरात्रि आंनद से परिपूर्ण होंगे। 29 सितम्बर रविवार से नवरात्रि प्रारंभ हों रहें है। इस दिन घट स्थापना का मुहूर्त प्रातः 7 बजकर 52 मिनट से 12 बजकर 17 मिनट तक, दोपहर में 1 बजकर 46 निमट से 3 बजकर 15 मिनट तथा शाम को 6 बजे से 8 बजे तक रहेगा। इसी दिन अभिजीत महूर्त  दोपहर 12 बजकर 23 मिनट तथा 1 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। ज्योतिषाचार्य श्री भारद्वाज ने बताया की 6 अक्टुबर को महाष्टमी तथा 7 अक्टुबर को महानवमी है। इस दिन अपनी कुल रित के अनुसार कुल देवी-देवता का पूजन करें। 8 अक्टुबर को दशहरा है। इस वर्ष दशहरे के दिन श्रवण नक्षत्र अंतर्गत पूजन होगा। दशहरे को शमी पूजन तथा शस्त्र पूजन विजय मुहूर्त 2 बजकर 25 मिनट से 3 बजकर 12 मिनट तक रहेगा। दशहरे के दिन इस महूर्त में नया कार्य भी प्रारंभ कर सकते। उक्त जानकारी मंदिर के शास्त्री श्रीकृष्ण भारद्वाज ने दी। 

Post a Comment

 
Top