नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बिन मोहम्मद से गुरुवार को मुलाकात की। दोनों नेताओं ने दोनों देशों के लोगों के कल्याण के लिए द्विपक्षीय संबंधों को विविधतापूर्ण बनाने के तरीकों पर चर्चा की। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलेशियाई प्रधानमंत्री के सामने विवादास्पद इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण का मुद्दा भी उठाया। आपको बता दें कि मोदी ने रूस के पूर्वी सुदूर क्षेत्र में व्लादिवोस्तोक में पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की पांचवीं बैठक के इतर मलेशिया के प्रधानमंत्री से बात की। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘व्लादिवोस्तोक में बैठकें जारी हैं। प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-मलेशिया सहयोग को विविधतापूर्ण बनाने के तरीकों पर चर्चा की ताकि दोनों देशों के लोगों की भलाई हो सके। एक महत्वपूर्ण आसियान सहयोगी के साथ संबंध मजबूत कर रहे हैं।’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से व्लादिवोस्तोक में ईईएफ 2019 के इतर मुलाकात की। भारत एवं मलेशिया के द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर वार्ता की गई।’
विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि मलेशिया के प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण का मुद्दा उठाया। दोनों देशों के बीच तय हुआ है कि दोनों तरफ के अधिकारी इस मुद्दे को लेकर संपर्क में रहेंगे। आपको बता दें कि मोदी 20वीं भारत-रूस वार्षिक शिखर वार्ता और पूर्वी आर्थिक मंच (EEF) की पांचवीं बैठक में भाग लेने के लिए रूस आए हैं। मोदी का रूस पहुंचने पर भव्य स्वागत हुआ था और उन्हें व्लादिवोस्तोक इंटरनैशनल एयरपोर्ट आने पर गार्ड ऑन ऑनर दिया गया।

Post a Comment

 
Top