भोपाल। प्रदेश में साढ़े तीन हजार हेक्टेयर से ज्यादा रकबे की खरीफ फसल अतिवर्षा की भेंट चढ़ चुकी है। खेतों की सोयाबीन, मूंग, उड़द और सब्जी की फसलें बर्बादी की कगार पर हैं। राजस्व विभाग द्वारा कराए जा रहे सर्वे के प्रारंभिक आंकड़ों के हिसाब से अतिवर्षा से कई जगह फसलें पूरी तरह पानी डूब चुकी हैं। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि निदाई-गुड़ाई नहीं हो सकी।

बताया जा रहा है की 70 करोड़ रुपए मूल्य की फसल के नुकसान का प्रारंभिक अनुमान है।  प्रदेश के17 जिलों में जलभराव वाले खेतों की फसलें बर्बादी की कगार पर है था 32 जिलों में 20 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति का नुकसान हे। प्रदेश के मंदसौर में 790, शाजापुर में 500, खंडवा में 367, खरगोन में 355, धार में 70, बुरहानपुर में 25 था बड़वानी में 0.705 (हेक्टे. में) रकबे में नुकसान हुआ है। 

Post a Comment

 
Top