भोपाल। प्रदेश सरकार ने शिवराज सरकार में बनी आदिम जाति मंत्रणा परिषद को निरस्त करते हुए नए सिरे से परिषद बना दी है। इसकी कमान मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने हाथ में रखी है। वे परिषद के अध्यक्ष रहेंगे। वहीं, उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम को सौंपी गई है। इसके अलावा 18 सदस्य बनाए गए हैं। ये सभी कांग्रेस दल के विधायक हैं। परिषद का कार्यकाल 15वीं विधानसभा की अवधि यानी 2023 तक रहेगा। परिषद आदिवासियों के हित में विभिन्न् प्रस्तावों पर विचार करके सरकार को सिफारिश करेगी।

इन्हें बनाया सदस्य -
फूंदेलाल मार्को, विजय राघवेंद्र सिंह, भूपेंद्र मरावी, नारायण सिंह पट्टा, संजय उइके, अर्जुन सिंह, योगेंद्र सिंह बाबा, निलेश पुसाराम उइके, ब्रह्मा भलावी, सुमित्रा देवी कास्डेकर, झूमा सोलंकी, ग्यारसीलाल रावत, चंद्रभागा किराड़े, कलावती भूरिया, वीरसिंह भूरिया, प्रताप ग्रेवाल, डॉ.हीरालाल अलावा और हर्ष विजय गेहलोत।

Post a Comment

 
Top