भोपाल। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कांताराव ने झाबुआ में उप-निर्वाचन के दौरान निर्वाचन व्यय की सख्ती से निगरानी करने के निर्देश दिये हैं। श्री कांताराव ने आज निर्वाचन व्यय निगरानी की इनफोर्समेंट एजेंसी के साथ विस्तृत चर्चा की। झाबुआ विधानसभा उप-निर्वाचन के लिये 21 सितम्बर को झाबुआ एवं अलीराजपुर जिले में आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गई है। झाबुआ में 21 अक्टूबर को मतदान होना है। श्री कांताराव ने कहा कि मतदान को 25 दिन रह गए हैं। सभी इनफोर्समेंट एजेंसियाँ सक्रियता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि इन एजेंसियों ने विधानसभा और लोकसभा निर्वाचन में बहुत अच्छे से कार्य किया और लाखों के नगदी, जेवर एवं नारकोटिक्स जब्त कर निष्पक्ष और निर्बाध मतदान में अहम् भूमिका निभाई थी। उन्होंने बताया कि पिछले चुनावों की अपेक्षा इस बार विधानसभा और लोकसभा चुनावों में इन एजेंसियों ने मुस्तैदी से कार्यवाही कर अधिक नगदी, जेवर नारकोटिक्स एवं अन्य वस्तुओं की बरामदगी की थी, जो प्रशंसनीय है। श्री कांताराव ने जानकारी दी कि 21 सितम्बर से 25 सितम्बर तक आबकारी और पुलिस विभाग ने 12 लाख 96 हजार 290 मूल्य की मदिरा जब्त की है। उन्होंने निर्देश दिये कि स्थैतिक निगरानी दल की संख्या बढ़ाई जाए। जिला आबकारी अधिकारी वन सीमा क्षेत्रों में खुफिया जानकारी आधारित कार्यवाहियाँ करें। इंटीरियर क्षेत्रों में हेलीकाप्टर आदि के पहुँचने की जानकारी रखें। सभी एजेंसियाँ आपसी समन्वय से कार्य करें तथा प्रतिदिन की कार्यवाही से मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को अवगत कराएँ। झाबुआ एवं अलीराजपुर जिलों के अन्य राज्यों के सीमावर्ती क्षेत्रों में विशेष मुस्तैदी एवं सख्ती से कार्यवाही की जाए। मतदाताओं को प्रलोभन देकर मतदान को प्रभावित करने वाली हर गतिविधि को निष्पक्षता के साथ सख्ती से रोकें और नियमानुसार कार्यवाही करें। बैठक में गृह, आयकर, आबकारी, नारकोटिक्स विंग इंदौर, परिवहन, सेंट्रल बैंक, सी.ए.पी. एफ. (एयरपोर्ट), एयरपोर्ट, आकाशवाणी, दूरदर्शन एवं टेलीकम्यूनिकेशन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी, उपस्थित थे।

Post a Comment

 
Top