भोपाल। वनमंत्री उमंग सिंघार के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ मोर्चा खोलने के बीच कमलनाथ सरकार के कई मंत्री सिंह के समर्थन में खुलकर सामने आ गए हैं। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि सिंह परदे के पीछे नहीं फ्रंटफुट पर खेलते हैं। वे प्रदेश के दस साल तक मुख्यमंत्री रहे हैं और जनता के हितों की बात करते हैं। हमें विषय बताते हैं और हम वे काम भी करते हैं। सरकार कमलनाथ ही चला रहे हैं। इसी तरह कुछ अन्य मंत्री दिग्विजय के पत्र लिखकर अपने पत्रों पर हुई कार्रवाई की जानकारी मांगने को जायज ठहरा रहे हैं। वनमंत्री सिंघार के दिग्विजय सिंह के मंत्रियों को पत्र लिखने के खिलाफ खुलकर सामने आने के बीच नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि सरकार के मुखिया कमलनाथ है। हम सभी उनकी कैबिनेट में मंत्री हैं और सीएम के नेतृत्व में सरकार चला रहे हैं। वाणिज्यिक कर मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि दिग्विजय सिंह वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य हैं। उनका अधिकार बनता है कि वे मंत्रियों से पूछ सकते हैं कि उनके पत्रों पर क्या कार्रवाई हुई। इसमें क्या बुराई है। वहीं, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ.विजयलक्ष्मी साधौ ने भी सिंह के पत्र लिखने को जायज ठहराते हुए कहा कि सिंह वरिष्ठ नेता हैं। गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा कि सरकार की पूरी बागडोर मुख्यमंत्री कमलनाथ के हाथ में है। वे अनुभवी नेता हैं। जिस तरह की आशंका लगाई जाती है वैसा कुछ भी नहीं है।पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से निरंतर संवाद होता रहता है। कृषि मंत्री सचिन यादव ने भी कहा कि वे जनता और कार्यकर्ताओं से जुड़े हैं। प्रदेशहित में पत्र लिखते हैं।

Post a Comment

 
Top