रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज स्थानीय शहीद स्मारक भवन में जय बूढ़ी माँ गांड़ा महासभा द्वारा आयोजित नुआ खाई जुहार भेंटघाट मिलन समारोह में शामिल हुए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि ओडिसा और छत्तीसगढ़ राज्य का गहरा नाता है। छत्तीसगढ़ और ओडिसा सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, व्यवसायिक और पारिवारिक रूप से एक दूसरे से जुड़ा हुआ है। सभी छत्तीसगढ़वासी भगवान जगन्नाथ के दर्शन के लिए ओडिसा जाते है, रथ यात्रा के मौके पर छत्तीसगढ़ के शहरों से लेकर गांवों तक रथ यात्रा का आयोजन किया जाता है।  मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने समाज की मांग पर सामाजिक भवन के लिए भूमि आबंटित करने का भरोसा दिलाया। समाज द्वारा जाति प्रमाण पत्र बनाए जाने के मांग पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि प्रदेश में जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया का सरलीकरण के लिए पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री रामपुकार सिंह की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय समिति गठित की गई है। समिति द्वारा जाति प्रमाण पत्र बनाने के मामले में पड़ोसी राज्यों के द्वारा जारी किए जा रहे जाति प्रमाण पत्रों की प्रक्रिया का अध्ययन किया जाएगा। उन्होंने समाज के लोगों को समिति के समक्ष अपना विचार रखने को कहा। उन्होंने समाज के लोगों को नुआ खाई पर शुभकामनाएं और बधाई दी। कार्यक्रम को गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा एवं श्री बृजमोहन अग्रवाल ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, विधायक श्री कुलदीप जुनेजा और श्री विकास उपाध्याय, जय बूढ़ी माँ गांड़ा समाज के पदाधिकारियों, प्रतिनिधियों सहित बड़ी संख्या में समाज के लोग उपस्थित थे। 

Post a Comment

 
Top