नई दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पिछले संसद सत्र में अनुच्छेद 370 पर मोदी जी ने ऐतिहासिक फैसला लिया। अनुच्छेद 370 और 35ए देश के एकीकरण में बाधा था। मोदी जी को आपने फिर से प्रधानमंत्री बनाया और उन्होंने संसद के पहले ही सत्र में अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। मोदी जी के अलावा ये काम कोई और नहीं कर सकता था। 370 के हटने से जम्मू कश्मीर में विकास के रास्ते खुले हैं, आतंकवाद के ताबूत में अंतिम कील ठोकी है, जम्मू कश्मीर को पूरी तरह से भारत के साथ मिलाने का काम हुआ है। बता दें कि शाह ने केंद्र शासित प्रदेश दादर एवं नागर हवेली के सिलवासा में बहुत सी विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। सिलवासा में परियोजनाओं का उद्घाटन करते हुए शाह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सब लोग इस फैसले पर सरकार के साथ हैं लेकिन कुछ लोग इसका भी विरोध कर रहे हैं। आज राहुल गांधी जो भी बयान देते है उसका उपयोग पाकिस्तान की संसद में होता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 370 को हटाने का विरोध किया। आज भी राहुल गांधी जो बयान देते हैं उसकी पाकिस्तान में तारीफ होती है। उनके बयान को पाकिस्तान अपनी याचिका में शामिल करता है। कांग्रेसियों को शर्म आनी चाहिए कि उनके बयान का उपयोग भारत के खिलाफ हो रहा है। अमित शाह ने कहा कि चाहे जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने का मामला हो, या फिर सर्जिकल स्ट्राइक हो या एयर स्ट्राइक का कांग्रेस गंभीर मौकों पर सरकार के खिलाफ खड़ी रही। अमित शाह ने कहा कि वे कांग्रेस से पूछना चाहते हैं कि आप किस तरह की राजनीति करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 को लेकर देश की जनता चट्टान की तरह नरेंद्र मोदी जी के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि कहा कि वे पूरी दुनिया को बताना चाहेंगे कि 370 हटने के बाद कश्मीर में सम्पूर्ण शांति है. उन्होंने कहा कि 370 हटने के बाद वहां एक भी गोली चलाने की जरूरत नहीं है, न ही एक भी आंसू गैस छोड़ा गया है और न ही किसी की जान गई है। अमित शाह ने कहा कि कानून-व्यवस्था को लेकर जो सवाल उठाए जाते हैं उसका इस्तेमाल दुश्मन करते हैं।

Post a Comment

 
Top