सरदारपुर। सरदारपुर तहसील मे तेज बारिश का दौर जारी है। तेहसील क्षैत्र मे स्थित माही परियोजना के दोनो बांधो  ने अपनी पुर्ण जलग्रहण क्षमता को धारण कर लिया। रात्रि मे एक बजे माही मुख्य बांध मे पानी की तेज आवक को देखते हुये दो गैट एक मीटर तक खोले वही आवक बढने पर कुछ घंटो के बाद दो गेट फिर एक मीटर तक खोले सुबह आठ बजे तक बांध के आठो गेट खोल दिये गये। 6 गैट एक मीटर तक ओर दो गेट आधा मीटर तक खोलकर जल निकासी बहाल की गई। बांध स्थल पर माही विभाग के एसडीओ श्री गोयल एंव उपंयी शेखुद्दीन कुरैशी पुरी रात अमले के साथ अल्टर पर रहे। हर आधा घंटे की अपडैट अपने वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत कराते रहे। जैसे ही रात्रि मे लैवल 451 के उपर जाने लगा वैसे ही गैट खोलकर लैवल मेंटन किया गया। अभी डेम का लेवल 451 मीटर को मेंटन किया जा रहा हेै। विभागीय अमला अभी भी बांध स्थल पर अल्र्ट पर है। पानी का बहाव बढने पर गैट को कुछ और अधिक खोला जा सकता है। बांध स्थल पर आज सुबह तक 593 मिमी बारिश दर्ज की जा चुकी है।
वही कालीकराई बांध ने भी अपनी पुर्ण जलग्रहण क्षमता का धारण कर लिया। बांध स्थल पर उपयंत्री नीलकंठ अमले के साथ पुरी रात भर अल्र्ट पर रहे। रात्रि एक बजे बांध का लैवल 473.75 मीटर से उपर होने पर पहले एक गैट एक फिट तक खोला वही सुबह आठ बजे एक गैट फिर एक फिट तक खोला दो गैट खोलकर लैवल 473.90 मीटर के लैवल को मेंटन किया जा रहा है।  ज्ञात रहे की दोनो बांध ने वर्ष 2016 मे ही अपनी पुर्ण जलग्रहण क्षमता धारण की थी। दो वर्ष बाद अब जाकर दोनो बांध पुर्ण भराये है जिससे किसानो के चेहरे पर खुशी देखी जा रही है।  वही सिंचाई विभाग के 61 तालाब मे से 30 तालाबो ने अपनी पुर्ण जलग्रहण क्षमता को धारण कर लिया है। 41 तालाब भी 80 प्रतिशत तक भरा चुके है।  जो बिती रात्रि मे तेज बारिश के बाद पुरे भरा चुके है।  सिंचाई विभाग के तालाब पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष अधिक मात्रा मे भराये है। पिछले वर्ष मात्र चार तालाब ही भरा पाये थे। जबकी इस वर्ष अभी 30 तालाब भरा गये है। बाकी तालाब भी 80 प्रतिशत भरा गये है। पसावदा बैरेज लबरैज हो गया है अंबेडी तालाब भी पुरा भरा गया है। वही चुनार बांध बनने के बाद पहली बार भरायेगा। यह बांध अभी तीन मीटर के लगभग खाली है। मानगढ बांध भी 80 प्रतिशत तक भरा जा चुका है। मैस्कोडेम,इडरिया,गोविंदपुरा जलाशय भी पुरे भरा चुके है। 

Post a Comment

 
Top