रिंगनोद। श्रावण के अंतिम सोमवार को अति प्राचीन तीर्थ नरसिंहदेवला से जल भरकर सेवा भारती द्वारा आयोजित भव्य कावड़ यात्रा निकाली  गई। कावड़ यात्रा का भी रिगंनोद में जोरदार स्वागत किया गया। जवखेड़ी स्थित शंकर मंदिर पर श्रद्धालुओं ने सभी कावड़ यात्रियों को केले बांटे गए, बस स्टैंड पर गांव वासियों ने सभी कावड़ यात्रियों को चाय पानी की व्यवस्था रखी। हनुमान मंदिर चौक पर भी नगर के श्रद्धालुओं द्वारा कावड़ यात्रियों को केले-बांटे गए। सेवा भारती की इस कावड यात्रा में लगभग पंद्रह सौ से अधिक कावड़ यात्री शामिल थे। साथ ही 200 से अधिक व्यवस्था के लोग लगे हुए थे। कावड़ यात्रा नरसिंह देवला से माही नदी का जल भरकर टांडा पहुंची। इससे पूर्व रविवार शाम को कावड़ यात्री अपने-अपने वाहनों से एवं बसों से नृसिंहदेवला मंदिर पहुंचे जहां पर सभी लोगों ने अपनी कावड़  का आकर्षक साज-सज्जा की।  यहां पर रात्रि में भोजन पश्चात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला सह कार्यवाह ललित कोठारी का उद्बोधन हुआ। जिसमें कोठारी ने वर्तमान समय में हिंदू समाज के लिए आने वाली चुनौतियां और हिंदू समाज को संगठित होने के लिए अपनी संस्कृति को संचारित करने के लिए प्रेरित किया। सोमवार को प्रातः कावड़ यात्रा प्रारंभ हुई। जिसका का जगह-जगह भव्य स्वागत हुआ। सरदारपुर मे नगर भ्रमण के दौरान श्रद्धालुओं द्वारा फलाहार करवाया गया। पश्चात कावड़ यात्रा राजगढ़ के लिए रवाना हुई।जहां पर पेट्रोल पंप के फलाहारी खिचड़ी एवं मंडी प्रांगण मे चाय नाश्ता का आयोजन हुआ तथा राजगढ़ नगर में भ्रमण के दौरान जगह-जगह समाज जनों द्वारा स्वागत किया। इस लंबी कावड़ यात्रा को देखकर राजगढ़ सरदारपुर एवं रिंगनोद में चर्चा का विषय रहा। लोगों द्वारा कावड़ का इतना सुंदर श्रृंगार किया जो देखने लायक था।

Post a Comment

 
Top