राजगढ़। आचार्य श्री उमेश मुनिजी "अणु" कि प्रेरणा से संचालित एवं प्रवर्तक श्री जिनेन्द्र मुनिजी म.सा. तथा चारित्र आत्माओं के आशीर्वाद से श्री धर्मदास जैन स्वाध्याय संघ थांदला के तत्वाधान में स्वाध्याय सेवा 18 वर्ष से गतिमान है। आगामी पर्युषण महापर्व के दौरान मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात के 43 स्थानों पर साधु संतो का चातुर्मास नही होने से इन स्थानों पर 102 स्वाध्याय बंधु और बहने लगातार आठों दिनों तक अपनी धार्मिक सेवाएं उन स्थानों पर जाकर देंगे। 
राजगढ़ में महावीर स्थानक भवन में पर्व में धर्म आराधना कराने के लिए थांदला के स्वाध्याय राजेन्द्र रूनवाल, ललित भंसाली, मनीष शाह यहां आएँगे। प्रतिदिन सुबह राईसी प्रतिकमण, प्रार्थना, शास्त्र वाचन, व्याख्यान तथा दोपहर को विभीन्न प्रतियोगिता, शाम को देवसीय प्रतिकमण, भजन, स्त्रुती, धर्म चर्चा आदी आयोजन होंगे। 30 अगस्त को भगवान महावीर स्वामी का जन्म वाचन किया जाएगा। 3 सितम्बर को संवत्सरी महापर्व पर क्षमा याचना कर आत्म शुद्धी की जाएगी। 4 सितम्बर को सामुहीक क्षमापना का आयोजन होगा। स्थानक समाज के हितेश वागरेचा ने बताया की राजगढ़ से अजित खाबिया दाहोद में तथा श्रीमती मंजु बुरड़ राजपुरा (बड़वानी) में पर्व आठो दिन धर्म आराधना करेंगे। 

Post a comment

 
Top