भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि निकाले गए सभी संविदाकर्मियों को फिर से वापस लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने संविदाकर्मियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई बैठक में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए जल्द नियम बनाए जाएंगे और जरूरत पड़ी तो कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जाएगा। ऐसे कर्मचारियों की संख्या करीब 5 हजार है। प्रदेश में कुल संविदाकर्मियों की संख्या 72 हजार के करीब है। मंत्रालय में मुख्यमंत्री के साथ हुई संविदाकर्मियों के प्रतिनिधिमंडल की बैठक में महिला बाल विकास, स्वास्थ्य विभाग के अलावा कई अन्य विभाग के अफसर मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने सभी संविदाकर्मियों को नियमित करने के साथ ही सेवा में नहीं रहने के दौरान का 90 फीसदी वेतन देने के निर्देश दिए हैं। संविदाकर्मियों का नियमित पदों में मर्जर के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा किसी भी संविदाकर्मी को अब निकाला नहीं जाएगा। संबंधित प्रोजेक्ट खत्म होने की सूरत में दूसरे प्रोजेक्ट में इनकी सेवाएं ली जाएंगी।

Post a Comment

 
Top