भोपाल। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश की  औद्योगिक निवेश की संभावनाओं का ठीक से दोहन करने की आवश्यकता है। प्रदेश उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण, डेटा प्रोसेसिंग, ऊर्जा स्टोरेज जैसे नए क्षेत्रों में देश का केंद्र-बिंदु बन सकता है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ और श्री मुकेश अम्बानी के बीच आज मुम्बई में मध्यप्रदेश में नए क्षेत्रों में निवेश के सम्बन्ध में चर्चा हुई। श्री कमल नाथ ने श्री मुकेश अम्बानी के साथ हुई बैठक के दौरान उन्हें प्रदेश में नई टेक्नोलॉजी में निवेश के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि इससे रोज़गार के मौके तो बढ़ेंगे ही, साथ ही व्यापार भी बढ़ेगा। इससे निवेशक और राज्य दोनों को फायदा होगा।  श्री  मुकेश अम्बानी ने कहा कि कृषि क्षेत्र में रिलायंस और मध्यप्रदेश सरकार की भागीदारी से विकास के नए रास्ते खुल सकते हैं। श्री  अम्बानी ने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के साथ केंद्रीय मंत्री के रूप में मुलाकात की चर्चा करते हुए कहा कि श्री कमल नाथ के साथ हुए विवेकपूर्ण विचार-विमर्श से व्यापारिक निर्णय सही निकले।  श्री मुकेश अम्बानी ने कहा कि जियो नेटवर्क का उपयोग महिला सुरक्षा, अपराध अनुसंधान और नियंत्रण जैसे क्षेत्रों में किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अमेजॉन और वालमार्ट की तरह रिलायंस ग्लोबल लॉजिस्टिक हब मध्यप्रदेश में स्थापित करने की योजना है। बेंगलुरु और मुम्बई में इसे पहले से ही स्थापित किया गया है।  श्री अम्बानी ने कहा कि एनर्जी स्टोरेज में मध्यप्रदेश में बैटरी निर्माण संबंधी निवेश करने को वे तैयार हैं। इसके लिए मध्यप्रदेश शीर्ष प्राथमिकता वाला राज्य है। लिथियम के बाद वेनेडियम के माध्यम से ऊर्जा स्टोरेज का भविष्य अच्छा है।  श्री अम्बानी ने कहा कि मध्यप्रदेश उद्यानिकी का केंद्र बन सकता है। खाद्य प्रसंस्करण का क्षेत्र बढ़ने से किसानों को सबसे ज्यादा फायदा होगा।  श्री अम्बानी ने यह जानकारी भी दी कि मध्यप्रदेश में डेटा उपयोग साऊथ कोरिया और यू.के. से भी ज्यादा हो रहा है। 

Post a Comment

 
Top