धार-राजगढ़। जिले के राजगढ थाना क्षैत्र में लगातार हो रही लूट की घटनाओ को रोकने के लिये पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार ओंकार कलेश के निर्देशन में एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी राजगढ़ लोकेशसिंह भदौरिया व राजगढ थाने के पुलिस टीम को लगाया था। जिसके तारतम्य में एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री व थाना प्रभारी राजगढ लोकेशसिंह भदौरिया को मुखबिर हेल्पलाईन के जरिये सूचना मिली कि 25 जुलाई को राजगढ़ थाने के पीछे से जो दिन दहाडे लूट की घटना हुई थी। उसमे एक संदिग्ध व्यक्ति जो कि राजगढ़ का ही रहने वाला हैं और घटना दिनांक को फरियादी के घर के आसपास देखा गया था, वह बस स्टैण्ड क्षैत्र में घुम रहा हैं। सूचना विश्वसनीय होने से उक्त सूचना को वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत कराया जाकर उनके निर्देशन में एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी राजगढ़ लोकेशसिंह भदौरिया की पुलिस टीम तैयार कर दबिश देकर उक्त आरोपी को पकडा जिससे नाम पता पूछने पर अपना नाम देवेन्द राठौर पिता भीमसिंह राठौर उम्र 32 साल नि.इंदिरा कालोनी राजगढ़ रहने वाला बताया। जिसे पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर आरोपी व्दारा अपना जुर्म करना स्वीकार किया गया।
इस तरह दिया था वारदात को अंजाम - 
आरोपी ने बताया कि वह 10वी तक पढ़ लिखा है व प्रदीप बस जो कि जोबट से इंदौर चलती हैं उसको चलाता हैं तथा आरोपी को बस मालिक ने करीब 15 दिन पहले काम से निकाल दिया था। जिस कारण उसके पास काम नही था और उसे रूपयो की आवश्यकता थी इसलिये उसने हितेश परमार के घर से लूट करने की योजना बनाई थी। आरोपी हितेश परमार को पहले से जानता था और आरोपी को पहले से यह भी जानकारी थी हितेश परमार त्रिमूर्ती कालोनी राजगढ मे रहता हैं और उसके पास बुहत सारा रूपया हैं । आरोपी ने पहले ही रैकी कर रखी थी कि हितेश परमार रोज अपने घर से सुबह 11 बजे करीब काम के लिये पारा या दूसरी जगह जाता हैं और शाम को घर वापस आता हैं और उसके पिताजी रोज सुबह पारा अपनी कटिंग की दुकान पर जाते हैं और वह भी शाम को ही वापस आते हैं और घर पर हितेश की पत्नि या माँ अकेली ही रहती हैं। इसलिये सुबह 11 बजे के बाद जब हितेश घऱ पर नही था। तब उसने अपने घर से ही चाकू ले जा कर और अपने मुँह पर सफेद रूमाल बांध कर हितेश के घर में मौका देखकर जब घर के आस-पास कोई नही था। घुस गया और जब हितेश की माँ किचन में फ्रीज खोल रही थी तो पीछे से जाकर उसको गर्दन तरफ से पकड लिया और चाकू उसकी गर्दन पर अडा दिया और उसे व उसके लडके हितेश को जान से मारने की धमकी देकर हितेश की माँ के पहने हुए सोने के जेवर सोने की चेन, सोने की झुमकी-सर, मंगलसूत्र उससे ले लिया और पास वाले कमरे में ले जाकर अलमारी के लाकर में रखी एक सोने की अंगूठी, पायल और नगद 30,000/-रूपये लूट लिये  और आरोपी ने हितेश की माँ को धमकाया कि यदि पुलिस में रिपोर्ट करी या किसी को भी इसके बारे मे बताया तो तूझे व तेरे लडके को जान से खत्म कर दूंगा और लूट की घटना करने के बाद वहाँ से भाग गया और अपने घऱ जाकर लूटे हुए  सोने के जेवरो को पन्नी में रखकर घर की छत पर रखे गमले में गाड कर छिपा दिया। और हितेश के घर से जो 30,000/-रूपये लूट कर ले गया था उसमे से आरीप ने  25,800/- पिछले छः सात दिनो में खाने पीने व घर के कामो में मे उडा दिये थे। और लूटे गये रूपयो में से शेष बचे 4,200/- रूपये और हितेश की माँ व उसके घर से लूटे गये सोने के जेवर तथा लोहे का चाकू व सफेद रूमाल जो आरोपी ने मुँह पर बांध रखा था। वह आरोपी ने अपने घर पर रखा होना बताया ।

आरोपी से जप्त किया समाना - 
आरोपी द्वारा उक्त जानकारी देने पर आरोपी से उसके व्दरा लूटे हुए सोने के जेवर  एक सोने की चेन, सोने की एक जोड झुमकी व सर, सोने की अंगूठी, सोने के मंगलसूत्र का एक सिंगल पेंडल, एक जोड चांदी की पायल, एक लोहे का खडकेदार चाकू, नगद 4,200/-रूपये, एक सफेद रूमाल व हरे रंग की प्लास्टिक की पन्नी आरोपी द्वारा पेश करने पर आरोपी से जप्त किया गया। आरोपी देवेन्द्र राठौर व फरियादी हितेश परमार दोनो ही मूलतः पारा जिला झाबुआ के रहने वाले हैं एवं आरोपी फरियादी को पहले से जानता था।

पुलिस अधीक्षक ने की पुरस्कृत करने की घोषणा - 
आरोपी से उक्त घटना के अतिरिक्त अन्य घटनाओ मे उसकी संलिपत्ता के बारे में लगातार पूछताछ की जा रही हैं। आरोपी को पकडने में एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री के नेतृत्तव मे थाना प्रभारी राजगढ लोकेशसिंह भदौरिया, सउनि अब्दुल जाकिर खाँन, सउनि राजाराम भगोरे, सउनि आर एन मिश्रा प्रआर दिवाकर सिंह बैस, प्रआर कृष्ण कुमार व आरक्षक  प्रदीप डावर, आर. नंदराम, आर. सुरेश,आर.  सुखराम, आर. आर शैतानसिंह,आर. बच्चुसिंह, आर. गुलाब, आर. सिरदार का महत्वपूर्ण योगदान रहा हैं। लूट की उक्त घटना को 7 दिवस में पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने पुरस्कृत करने की घोषणा की हैं।

Post a Comment

 
Top