धार। जिले में लगातार हो रही लूट, डकैती व चोरी की घटनाओं में थाना टांडा क्षेत्र के ग्राम जामदा भूतिया के बदमाशो की संलिप्तता होने से उन बदमाशो की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने हेतु  पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओंकर कलेश के निर्देशन में धार जिलें के समस्त सीएसपी व एसडीओपी, थाना प्रभारीयों के साथ-साथ धार क्राईम ब्रांच/सायबर प्रभारी संतोष पाण्डेय को लगाया गया था। क्राईम ब्रांच धार प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को मुखबीर से सूचना मिली कि टांडा थाना क्षेत्र के ग्राम जामदा भूतिया का कुख्यात बदमाश कालू पिता स्व. मोटला भील बिना नम्बर प्लेट की होंडा साईन मोटर सायकल से अपने गांव भूतिया से सरदारपुर होता हुआ राजोद की ओर जाने वाला है। मुखबीर की सूचना महत्वपूर्ण होने से वरिष्ट अधिकारियों को अवगत कराया जाकर एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री के नेतृत्व में थाना प्रभारी(इंचार्ज) सरदारपुर भूपेन्द्रसिंह परिहार एवं उनकी टीम एवं क्राईम ब्रांच धार की टीम को कार्यवाही हेतु लगाया गया। क्राईम ब्रांच धार टीम द्वारा सरदारपुर-राजोद रोड़ तिराहे के पास नाकाबंदी की। कुछ देर बाद सरदारपुर तरफ से बिना नम्बर प्लेट की होंडा साईन मोटर सायकल पर मुखबीर द्वारा बताए हुलिए का एक व्यक्ति आता हुआ दिखा। जिसे टीम ने घेराबंदी कर रोका। टीम द्वारा व्यक्ति से नाम पता पूछते अपना नाम कालू उर्फ कालिया पिता स्व. मोटला अमलियार जाति भील उम्र 28 साल निवासी पीपलपाडा फलिया ग्राम भूतिया थाना टांडा जिला धार का होना बताया। कालू से गाडी के संबंध में पूछताँछ करते चोरी की मोटर सायकल होना बताया। मोटर सायकल का इंजन नम्बर मिटा हुआ था जिसकी तस्दीक की जा रही है।

आरोपी कालू भील थाना सरदारपुर में 4 अपराधों में पूर्व से ही फरार था। चारों अपराधों एवं अन्य अपराधों के संबंध में टीम पूछताँछ करने पर आरोपी कालू ने अपने जामदा भूतिया के थाना सरदारपुर, थाना टांडा व थाना गंधवानी के 2 हत्या सहित डकैती, 2 पुलिस बल पर हमला कर हत्या का प्रयास एवं 2 लूट की वारदाते करना कबूल की। तथा आरोपी ने बताया कि मेरे गांव जामदा-भूतिया के अन्य 15-20 बदमाशों ने पिछले साल थाना सरदारपुर व टांडा पुलिस बन्दुक से फायर किया था, उन बदमाशो में मैं भी शामिल रहा था। आरोपी ने बताया की  भंगू पिता सगवान भील निवासी होलीबयडा थाना टांडा, फकरिया पिता गोलू भील निवासी होलीबयडा थाना टांडा, मेहरू पिता कालू भील निवासी होलीबयडा थाना टांडा, भाया उर्फ भैयू भील निवासी भूतिया थाना टांडा, गनिया पिता कालू भील निवासी जामदा थाना टांडा, चमरिया पिता सेकडिया भील निवासी जामदा थाना टांडा, सदन भील निवासी भूतिया थाना टांडा,  रमिया पिता टेटिया भील निवासी जामदा थाना टांडा, करणसिंह पिता मागिया भील निवासी भूतिया थाना टांडा तथा  टीकू भील निवासी राताकोट हा.मु. पीपरपाडा थाना टांडा एवं अन्य 10 लोग और है, जिनके नाम में अच्छे से नही जानता हू के साथ वारदात करना कबूल किया। आरोपी ने बताया की पुलिस पर हमला करने में उपयोग किया गया देशी कट्टा मैंने अपने घर में छिपा रखा है साथ ही ग्राम छीपापुर थाना सरदारपुर में पिछले साल मैंने अपने साथियों के साथ लूट की थी, उस लूट के कुछ बर्तन भी मेरे पास मेरे घर में रखे हुए है। आरोपी कालू की निशादेही पर देशी कट्टा व लूट का मश्रुका जप्त करने के उद्देश्य से क्राईम ब्रांच व थाना सरदारपुर की टीम ने उसके घर से एक देशी कट्टा व आरोपी कालू द्वारा समक्ष बताये बर्तन जप्त किए। तथा वापस कालू को हथकडी लगाकर सरदारपुर थाने के लिए रवाना हुई।

 रास्ते में टांडा के घने जंगल के बीच शातिर आरोपी कालू पुलिस की चलती हुई गाडी से कूद गया। तथा जंगल के रास्ते भागने लगा। पुलिस द्वारा आरोपी का पीछा किया गया। परंतु आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा। थाना प्रभारी(इंचार्ज) सरदारपुर श्री भूपेन्द्रसिंह परिहार ने आरोपी के अभिरक्षा से भागने की सूचना तत्काल वरिष्ट अधिकारियों एवं पुलिस कंट्रोल रूम को दी गई। कुछ ही समय में जिलें के आला अधिकारी मौके पर पहुचे। पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस की टीमें बनाकर जंगल में सर्चिग शुरू कर दी।  क्राईम ब्रांच टीम एवं पुलिस टीम द्वारा अत्यंत लगन व मेहनत से काम करना शुरू किया। कुछ देर बाद क्राईम ब्रांच टीम को झाडी में छूपा हुआ एक व्यक्ति दिखा, जिसे क्राईम ब्रांच एवं सरदारपुर टीम द्वारा घेरा, तथा नजदीक से देखा तो कालू भील ही था, जिसे पकड़कर उठाया तो पाया कि पुलिस गाडी से भागने के दौरान गिरने से उसके पैर में चोट लग गई है, तथा वह लंगडा के चल रहा है। संभवतः पैर में चोट लगने के कारण कालू ज्यादा दूर तक नही भाग पाता इसीलिए अपने आपको छिपाने के लिए गहरी झाडियों में छिप गया था। इस प्रकार क्राईम ब्रांच धार व थाना सरदारपुर पुलिस द्वारा अभिरक्षा से भागे कालू को कुछ ही समय में वापस पकड़ने में सफलता प्राप्त की।

इन वारदातों में शामिल होना आरोपी कालू स्वीकारा -
वारदात 1 -  दिनांक 09.08.2017 को फरियादी पप्पु पिता रामाजी भील निवासी ग्राम रिंगनोद ने थाना सरदारपुर  आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 08,09.08.2019 की दरमियानी रात में मैं अपने अन्य चैकीदार साथियों के साथ रिंगनोद मोहल्ले की गस्त कर रहा था। रात्रि गस्त दौरान अज्ञात 20 -25 बदमाश से उनका आमना सामना हो गया। अज्ञात बदमाषों ने एकमत होकर फरियादी व उनके अन्य साथियों पर पत्थर से हमला कर दिया, जिससे फरियादी व उनके अन्य साथियों को शरीर पर चोट आई। फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर में अपराध क्रमांक 351/17 धारा 147,148,149,307,302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वारदात 2 - दिनांक 16.10.2018 को थाना प्रभारी टांडा को थाना भ्रमण दौरान मोबाईल से सूचना मिली कि जामदा-भूतिया गांव के कुछ बदमाश फरियादी रामसिंह भील निवासी आम्बापुर के यहाॅ से 5-6 बकरा-बकरी व दो बैल चुराकर जंगल के रास्ते भूतिया ले गये। जिसकी तलाष हेतु थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ होलीबयडा-भूतिया गांव पहुचे। तो करीब 25 नामजद बदमाषों ने थाना प्रभारी व उनकी टीम का गांव में आने से विरोध किया तथा पहाडियों पर चढकर पुलिसकर्मी व शासकीय वाहन पर देषी कट्टों से फायर, गोफन, पत्थर व तीर चलाना शुरू कर दिया, जिससे पुलिसकर्मी घायल भी हुए। आत्मरक्षार्थ पुलिस द्वारा भी फायर किया गया, जिससे बदमाश पीछे हटकर भाग गए। पुलिस पर हमला करने व शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने से 25 नामजद आरोपियों के विरूद्ध थाना टांडा में अपराध क्रमांक 185/18 धारा 353,332,307,147,148,149,341 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वारदात 3 - दिनांक 07.08.2018 को फरियादी सतारसिंह पिता बदिया निवासी ग्राम छिपापुरा भोपावर ने थाना सरदारपुर आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 06.08.2018 की रात्रि करीब 10ः30 बजे अज्ञात बदमाषों ने उसके ढोर बांधने के बाडे का दरवाजा पत्थरों से तोडकर उसमे बंधे 20 बकरा बकरी, 02 बैल, 02 गाय निकाल लिए तथा पडोसी शंकर भील का दरवाजा तोडकर आधा किलों चांदी व मोबाईल चुरा लिया। तथा अन्य दो व्यक्तियों के घर से दो मुर्गे, खाना बनाने के बर्तन चुराकर ले जाने लगे। जिस पर गांव के लोग जाग गए। तथा बदमाषों के पीछे दौडे तो बदमाषों ने हम पर बन्दुक से फायर किया। जिसमें फरियादी व उसके पडौसी को चोट लगी। फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर में अपराध क्रमांक 262/18 धारा 459,380 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वारदात  4- दिनांक  13.08.2018 को फरियादी कैलाष पिता अम्बाराम सिंगार जाति भील उम्र 55 साल निवासी श्यामपुरा ठाकुर ने थाना सरदारपुर आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 13.08.2018 की रात्रि करीबन 01ः30 बजे को अज्ञात बदमाषों ने फरियादी के घर में घुसकर 05 बकरिया, 02 बकरे व 03 बकरी के बच्चे चुराकर ले जा रहे थे। फरियादी व उसका लडका जाग गया। दोनो के चिल्लाने पर गांव वाले इकट्ठा हो गए, बदमाषों के पीछे दौडे तो बदमाषों ने बन्दुक से फायर किया। जिससे फरियादी व उसके भाई गिरधारी को छर्रे से गोली लगी। फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर में अपराध क्रमांक 268/18 धारा 459,380 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वारदात 5 - दिनांक 20.08.2018 को फरियादी गुमान पिता कलसिंह भीलाला निवासी मालपुरा, सोयला ने थाना गंधवानी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 19.08.2018 की रात्रि करीब 10:00 बजे 5-6 अज्ञात हथियार लेस बदमाश फरियादी के घर से एक बैल चुरा कर ले जाने लगे। गांव के कुछ लोग जाग गए। तथा बदमाश का पीछा किया तो बदमाषों ने पत्थर मारे। जिससे फरियादी को चोट लगी। फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना गंधवानी में अपराध क्रमांक 296/18 धारा 395,396,397,460 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

वारदात 6 - दिनांक 30.09.2018 को मालपुरिया गांव के तडवी दलसिंह ने चैकी प्रभारी रिंगनोद को मोबाइल से सूचना दी कि जामदा भूतिया गांव के 15-20 बदमाश हथियार से लेस है, तथा मालपुरिया गांव के लोगो को डरा धमका कर 2 बैल व 1 गाय मारते पीटते ले जा रहे है। सूचना पर से चैकी प्रभारी रिंगनोद व उनकी टीम मौके पर पहुची। तो पुलिस को देखते ही उन बदमाशो ने पुलिस पर फायर करना शुरू कर दिया। जवाबी कार्यवाही में पुलिस द्वारा भी फायर किये। बदमाशो वहाँ गाय बैल छोडकर भाग गए। बदमाशो की बन्दुक से फायर के दौरान चौकी प्रभारी रिंगनोद की पीठ पर भी छर्रे लगे। जिसका बाद उपचार कराया गया। पुलिस पर हमला करने व शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने से 24 नामजद आरोपियों के विरूद्ध थाना सरदारपुर में अपराध क्रमांक 338/18 धारा 395,307,353,332 भादवि व 25,27 आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

अन्य वारदातों का भी हो सकता है खुलासा - आरोपी से प्राप्त चोरी की मोटर सायकल व अन्य साथियों के द्वारा किये गए अपराधों के संबंध में लगातार पूछताँछ एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच प्रभारी संतोष पाण्डेय, थाना प्रभारी(इंचार्ज) भूपेन्द्रसिंह परिहार, उनि एनएस दंडोतिया, सउनि धीरज सिंह राठौर, प्रआर. रामसिंह गौर, आर. गुलसिंह, बलराम, प्रशांतसिंह, राहुल, अनिल, रवि, प्रकाश, अविनाश, संजय द्वारा की जा रही है। जिससे और भी कई चोरी, लूट व डकैती की वारदाते खुलने की पूर्ण संभावना है।

Post a Comment

 
Top