रायपुर। रापा गैती, कुदारी और गेड़ी के साथ जिलावासियों ने इस बार जमकर हरेली का जश्न मनाया। ग्राम पाहंदा में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने, ग्राम घुघुसीडीह में गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने और मचांदुर में मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लालजी सिंह राठिया ने ग्रामीणों के बीच पहुंच कर उनके साथ हरेली का जश्न साझा किया। इस उत्सव में गौठानों का लोकार्पण भी हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी छत्तीसगढ़ी संस्कृति की चिन्हारियां धीरे-धीरे विलुप्त होती जा रही थीं। हमने इसे सहेजने का कार्य आरंभ किया है। आज हरेली का जिस तरह से आयोजन हुआ है और आप लोगों ने इतने उत्साह से इसमें हिस्सा लिया है उससे हममें बहुत उत्साह आया है और हम सब मिलकर छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक समृद्धि को सहेजते हुए इसे विकास की ओर ले जाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर २० गांव के सरपंचों से चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि पूरा हिंदुस्तान आपकी ओर देख रहा है। यह ग्रामीण विकास की बड़ी पहल है। आप अपनी पूरी भागीदारी दीजिए, यह ग्रामीण विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी।  गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने ग्राम घुघुसीडीह में कहा कि नरूवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी योजना के माध्यम से पशुधन की संभावनाओं का पूरा दोहन होगा। गौठानों के माध्यम से हम पशुधन की उत्पादकता बढ़ा सकते हैं। जैविक खेती को बढ़ावा दे सकते हैं। जो परंपरागत रूप से ज्ञान हमारे पूर्वज लेकर चल रहे थे और जिसे हम विस्मृत करते जा रहे थे। नरूवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी योजना के माध्यम से यह परंपरागत ज्ञान पुनः सहेजा जा रहा है। आप लोगों की इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में भागीदारी से अच्छा लग रहा है।  मचांदुर में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लालजी सिंह राठिया ने कहा कि सरकार ने ग्रामीण विकास के लिए कर्जमाफी और २५०० रुपए में धान खरीदी जैसे निर्णय लिये। इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था बहुत बेहतर हुई है। छत्तीसगढ़ की संस्कृति बचेगी तो हम भी बचेंगे। शासन ने हरेली के अवसर पर अवकाश की जो घोषणा की है। उससे बहुत उत्साह है। आज हरेली के आयोजन में आप लोग जिस तरह से भागीदारी कर रहे हैं। भिलाई में भी खुर्सीपार और रिसाली में आज नगरीय निकाय स्तर पर आयोजन हुआ। भिलाई ३ में मंगल भवन में यह कार्यक्रम हुआ। इस मौके पर छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का भी प्रदर्शन किया गया। यह व्यंजन स्वसहायता समूहों की बहनों ने तैयार किए थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गुलगुला भजिया भी खाया और चीला भी। गेड़ी भी चढ़े, आप लोगों के साथ उत्साह से इस त्योहार को मनाकर बहुत अच्छा लग रहा है। इस मौके पर विधायक श्री अरुण वोरा, विधायक श्री देवेंद्र यादव एवं अन्य अतिथि उपस्थित थे। कमिश्नर श्री दिलीप वासनीकर एवं कलेक्टर श्री अंकित आनंद सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी भी सभी कार्यक्रमों में उपस्थित रहे।

Post a Comment

 
Top