वीराज प्रजापती, सारंगी। मध्य प्रदेश शासन एवं कलेक्टर के दिशा निर्देशन में जिले में दस्तक अभियान के तहत घर-घर पहुंचकर बच्चों का सरूर कार्य किया जा रहा है। दस्तक अभियान के तहत निमोनिया रक्त अल्पता कुपोषित बच्चों से प्रभावित बच्चों के स्वास्थ्य के लिए कार्य किया जा रहा है। वही उक्त बच्चों के अभिभावकों को जन जागरूक करते हुए बच्चों को चिकित्सालय में भर्ती कराया जा रहा है तथा प्राथमिक उपचार प्रदान करते हुए बेहतर स्वास्थ्य के प्रयास किए जा रहे हैं। वही दस्तक अभियान के तहत मैदानी अमला जिसमें स्वास्थ्य विभाग से एएनएम आशा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आदि महिलाओं और पुरुषों को बेहतर स्वास्थ्य की जानकारी दे रहे हैं। वही उन्हें बेहतर स्वास्थ्य के लिए ठीक तरीके से हाथ धोकर पानी भोजन आदि ग्रहण करने के प्रति जन जागरूक भी किया जा रहा है। मैदानी अमला घर घर ब्राह्मण करते हुए स्वास्थ्य संबंधित जन जागरूकता का व्यापक प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है।
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सारंगी के मेडिकल ऑफिसर डॉ. सुरेश कटारा के मार्गदर्शन में स्वास्थ अमला गांव में जाकर लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कर रहे हैं। दस्तक अभियान के अंतर्गत गांव में ग्राम सभा का आयोजन भी किया जा रहा है। एएनएम निशा बंसल ने बताया ग्राम छावनी में ग्राम सभा का आयोजन रखा गया जिसमें गर्भवती माताओं की जांच बच्चों की जांच कुपोषित बच्चों की जांच के साथ स्वास्थ्य के प्रति लोगों को बताया गया की बरसात होने के कारण घर के आस-पास गंदा पानी इकट्ठा नहीं होने दे ताकि मच्छर पैदा ना हो मच्छरदानी का उपयोग करें और अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें भोजन खुला न छोड़ें हमेशा हाथ धोकर ही भोजन करें नाखून बड़े नहीं होने दे। साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें दस्तक अभियान के अंतर्गत ग्राम छावनी में ग्राम सभा में सुपरवाइजर भरत निनामा, निशा बंसल, शिक्षक कमलेश बसेर, शिक्षिका निर्मला, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कमली बाई कटारा, आशा कार्यकर्ता अनिता कटारा, शंभू पंच गांव के नागरिक एवं महिलाएं उपस्थित थे।

Post a Comment

 
Top