सरदारपुर। देर आये दुरस्त आये की तर्ज पर आखिरकर मानसुन मेहरबान हो ही गया। पिछले 24 घंटे से अधिक समय से हो रही लगातार बारिश  से क्षैत्र के नदी नाले तो उफान पर आ ही गयें वही माही परियोजना के उपबांध कालीकराय एवं मुख्य बांध मे अच्छी मात्रा जल आवक हुई। माही परियोजना के उपबांध कालीकराई मे 5 जुलाई की अवधी मे करीब 1 मीटर अधिक पानी की आमद हुई। कालीकराई उपबांध मे पिछले वर्ष 5 जुलाई को 466.20 मीटर पर था वही बारिश 145 मिमी हुई थी। जबकी इस वर्ष 5 जुलाई को सुबह आठ बजे तक बांध का जलस्तर  467 मीटर के लेवल को छु गया। वही बारिश भी 227 मिमी  हुई। पिछले 24 घंटे मे बांध स्थल पर 75 मिमी यानी 3 इंच बारिश हुई। वही शाम 7 बजे तक बांध के जलस्तर मे 0.50 मीटर की बढोतरी के साथ बांध का जलस्तर 467.50 मीटर के लेवल को छु गया।  वही 6 जुलाई की सुबह आठ बजे बांध का जलस्तर 469 मीटर हो गया। पिछले 24 घंटे मे बांध स्थल पर 55 मिमी बारिश दर्ज की गई। इस वर्ष बारिश आरंभ होने के पुर्व बांध का जलस्तर 465.75 मीटर पर था। यानी इस वर्षा सत्र मे बांध के जलस्तर मे 2.25 मीटर की जलवृद्धि हो चुकी है। बांध का पुर्ण जलग्रहण क्षमता 474.30 मीटर है। बांध स्थल पर इस सत्र मे आज सुबह तक 282 मिमी लगभग 11.28 इंच बारिश दर्ज की जा चुकी है। पिछले 48 घंटे मे बांध स्थल पर 5.2 इंच बारिश हुई।
वही माही मुख्य बांध पर इस वर्षा सत्र मे 402 मिमी बारिश दर्ज हुई  जबकी पिछले 48 घंटे मे  घंटे मे 85 मिमी लगभग 3.4 इंच बारिश दर्ज की गई। 5 जुलाई को सुबह 8 बजे 441.10 मीटर बांध का जलस्तर को छु गया। वही 6 जुलाई सुबह आठ बजे 442 मीटर पर आ गया।  बारिश आरंभ होने के पुर्व बांध का जलस्तर 440.30 मीटर पर था। यानि 1.7 मीटर की जल बढोतरी हुई। बांध की पुर्ण जलग्रहण क्षमता 452.50 मीटर है।

Post a Comment

 
Top