सरदारपुर। सरदारपुर तहसील का छोटा सा ग्राम पदमपुरा आबादी महज 1 हजार लेकिन शनिवार को इस ग्राम के ग्रामीणो ने पर्यावरण संरक्षण को लेकर जो कार्य किया एंव अनुकरणीय रहा। इसी ग्राम मे जन्मे एक युवा अफसर मोहनलाल मारू जो वर्तमान मे उज्जैन मे जिला एंव खाद्य आपुर्ति अधिकारी के पद पर पदस्थ है। इस अफसर पने अपने पिता के निधन के बाद उनकी स्मृति को चिरस्थाई बनाने के लिये पर्यावरण सरंक्षण को लेकर उनकी याद मे पौधोरोपण का बीडा उठाया। एक माह पुर्व गांव के लोगो की बैठक आयोजीत कर  मुक्तिधाम के कायाकल्प का संकल्प लेकर उसे शांतिवन का रूप देने का प्रण लिया। मुहिम आरंभ हुई और कारवा बढता चला गया। एक पौधा का संकल्प हजारो पौधे रोपने के साथ बढा। अकेले ग्राम पदमपुरा मे ही एक हजार से अधिक पौधे कल विधीवत वंसुधरा हरियाली महोत्सव का आरंभ कर रोपे गये।
 इस अवसर पर ग्राम मे देशभक्ति की गीतो के साथ तिरंगे ध्वजो को लेकर विशाल रैली निकाली गई। रैली मे स्कुली बच्चो के साथ ग्रामीणजन एंव मालवा अचंल के कई शहरो से पर्यावरण प्रेमी एंव गायत्री परिवार के सदस्यगण शामिल हुये। मुक्तिधाम मे पंडितो के द्वारा विधीवत पुजा अर्चना करवाकर मोहनलाल मारू एंव उनकी पत्नि के द्वारा महामंडलेश्वर उज्जैन की उपस्थिती मे नीम, वट एंव पीपल के पौधे एक ही स्थान पर रोपकर इस महाअभियान का आरंभ किया गया।
कार्यक्रम मे उपस्थित हुये महामंडलेश्वर ने पर्यावरण संरक्षण को लेकर मोहनलाल मारू के  द्वारा आरंभ किये गये इस अभियान करी प्रंशशा करते हुये गौ माता की घर वापसी का आव्हान किया। आपने कहा की गौशाला खुली हे तो वृद्धा आश्रम भी खुलेगे ऐसे नौबत नही आये । इसके लिये वै स्वंय निकट के ग्राम खुटपला मे गौशाला मे रूककर गौमाता की घर वापसी का अभियान चलायेगे। वही पदमपुरा के ही रहने वाले सेवानिवृत अधिकारी एसआर विश्वकर्मा ने कहा की पर्यावरण  सरंक्षण के साथ ही पेयजल सरंक्षण का कार्य करेगे। ग्राम मे नलकुप एंव कुओ को रिचार्ज करने पर कार्य किया जायेगा।

Post a Comment

 
Top